पुणे, एजेंसी। किसी शहर में नए होने पर आप कितने असानी से ठगी का शिकार हो सकते हैं इसका अंदाजा बेंगलुरू के इस सॉफ्टवेयर इंजीनियर के साथ हुए इस वाकये से लगाया जा सकता है। यह इंजीनियर बेंगलुरू से नई कंपनी में नौकरी के लिए पुणे आया था। इससे एक ऑटो ड्राइवर ने महज 18 किलोमीटर यात्रा के लिए 400-500 नहीं बल्कि 4,300 रुपये किराया वसूल लिए। यह घटना बुधवार सुबह की है। 

कैब बुक नहीं होने पर ऑटोरिक्शा से गया

इस शख्स ने यरवडा पुलिस स्टेशन में इसकी शिकायत दर्ज कराई है। जानकारी अनुसार कटराज-देहू रोड बायपास पर बेंगलुरू से आए एक बस ने उसे बुधवार की सुबह 5 बजे छोड़ा। उसने पहले कैब बुक करने की कोशिश की, लेकिन उसे कैब नहीं मिली। उसी समय पास से उसे एक ऑटोरिक्शा गुजरता दिखा। उसमें ड्राइवर के अलावा एक अन्य शख्स था। ऑटो में पीछे बैठा शख्स असल में रिक्शा ड्राइवर था और नशे में धुत्त था। ड्राइवर ने यात्री को बताया कि, उसने पुलिस से बचने के लिए अपने दोस्त को रिक्शा चलाने के लिए कहा था। 

 

यात्री से हुई ये चूक

यात्री ने बताया इस दौरान उससे एक चूक हो गई। उसने ऑटो में बैठते वक्त मीटर रीसेट हुआ कि नहीं उसपर ध्यान नहीं दिया। इसके बाद जब वो अपनी डेस्टिनेशन पर पहुंचा तो उन्होंने उसे 4,300 रुपये किराया चुकाने को कहा। उसने जब इसका विरोध किया तो दोंनों ने उससे कहा कि 600 रुपये शहर में प्रवेश करने के और 600 रुपये शहर से निकलने के और बाकी यहां तक आने का किराया हुआ।

 

ऑटो रिक्शा का रजिस्ट्रेशन नंबर नोट कर लिया

यात्री ने सुनसान इलाका देखकर पैसे दे दिए, लेकिन उसने जाने से पहले ऑटो रिक्शा का रजिस्ट्रेशन नंबर नोट कर लिया। इसके बाद उसने यरवडा पुलिस स्टेशन में इसकी शिकायत दर्ज कराई। पुलिस स्टेशन ने  संबंधित थाना को इस शिकायत की कॉपी भेज दी है। वहीं संदिग्ध की तलाश करके कार्रवाई होगी। 

यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र में 'कड़कनाथ' के नाम पर करोड़ों का घोटाला, तीन गिरफ्तार, जानिए पूरा मामला...

 

Posted By: Tanisk

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप