मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, जागरण न्यूज नेटवर्क। उत्तर भारत के कई राज्यों में बुधवार रात मौसम बदलने से गर्मी से राहत तो मिली, लेकिन साथ ही तबाही कम नहीं हुई। जम्मू संभाग में बुधवार रात तेज आंधी व बारिश जानलेवा बन गई और भारी तबाही हुई। बिजली के कई खंभे और पेड़ उखड़ गए और कच्चे घरों की छतें उड़ गई। फसलों को भारी नुकसान पहुंचा और कुछ जगह दीवारें गिरने से वाहनों को भी क्षति पहुंची।

तेज आंधी से नुकसान का सिलसिला बुधवार को भी जारी रहा। डोडा के ठाठरी में यात्रियों को लेकर जा रही एक मिनी बस पहाड़ से गिरे बड़े पत्थर के नीचे दब गई। इसमें पांच यात्रियों की मौत व नौ अन्य घायल हो गए। राजौरी के नौशहरा के गांव दब्बड में तूफान में घर की छत गिरने से एक व्यक्ति घायल हो गया।

बारिश से गिरा तापमान, लौटी ठंड
श्रीनगर समेत अधिकांश इलाकों में दिनभर हुई बारिश से तापमान में गिरावट आ गई, जिससे समूची वादी फिर ठंड की चपेट में आ गई है। गुलमर्ग समेत वादी के उच्च पर्वतीय इलाकों में बारिश का सिलिसला मंगलवार रात को ही शुरू हो गया था जबकि निचले इलाकों में बुधवार सुबह बारिश शुरू हुई, जो दिनभर रुक-रुक कर जारी रही।

उत्तराखंड में बर्फबारी
उत्तराखंड में मौसम का मिजाज ने एक बार फिर करवट बदली। मैदानी इलाकों में तेज धूप के कारण दिन के समय तेज गरमी से लोग बेहाल रहे, जबकि केदारनाथ, बदरीनाथ में बर्फबारी और पिथौरागढ़ में बारिश-ओलावृष्टि से यहां तापमान सामान्य से चार डिग्री नीचे लुढ़क गया है। बुधवार को दोपहर के समय बदरीनाथ, केदारनाथ, हेमकंुड साहिब व कुमाऊं मंडल के पिथौरागढ़ की ऊंची चोटियों में बारिश व हल्की बर्फबारी हुई।

हरियाणा में 43 डिग्री पहुंचा पारा
हरियाणा खासकर दक्षिणी क्षेत्र इन दिनों प्रचंड गर्मी की चपेट में है। हालात यह है कि सुबह 11 बजे के बाद से ही लू चलने लग जाती हैं। बुधवार को नारनौल और गुरुग्राम में सबसे अधिक तापमान रहा। नारनौल का अधिकतम तापमान 43.1 डिग्री, जबकि गुरुग्राम का तापमान 43 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हिसार सहित अन्य जिलों का भी तापमान 40 डिग्री के आसपास रहा।

दिल्ली में अधिकतम तापमान 41.7
दिल्ली में बुधवार का दिन इस सीजन का सबसे गर्म दिन रहा। अधिकतम तापमान 41.7 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया जो सामान्य से चार डिग्री ज्यादा है। पालम में पारा 43 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। बुधवार को न्यूनतम तापमान 27.1 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। यह भी सामान्य से चार डिग्री ज्यादा है।

पंजाब में दिनभर चली तेज हवाएं
पंजाब में वेस्टर्न डिस्टर्बेस फिर से सक्रिय हो गया है। इसके चलते मंगलवार मध्यरात्रि के बाद मौसम बदल गया है। बुधवार तड़के चार बजे से सुबह आठ बजे तक करीब चालीस किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलीं और दिनभर तेज धूप आसमान से बरसी। लेकिन शाम साढ़े चार बजे के बाद मौसम ने करवट ली। धूप गायब हो गई और पूरे आसमान में बादल छा गए। शाम पांच बजे से तेज बारिश शुरू हो गई। कई जगहों पर बारिश के बीच ओले भी गिरे। लुधियाना में करीब आधे घंटे के दौरान तीन मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई और ओलावृष्टि भी हुई। इससे किसानों की चिंता बढ़ गई।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप