नई दिल्‍ली, एजेंसियां। Weather Update जम्‍मू-कश्‍मीर और हिमाचल प्रदेश के लिए आज का दिन भारी पड़ने वाला है। मौसम विभाग (Meteorological Department, IMD) ने अलर्ट जारी करते हुए कहा है कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण जम्‍मू-कश्‍मीर और हिमाचल प्रदेश में गरज चमक के साथ भारी बारिश और बर्फबारी हो सकती है। यही नहीं पश्चिम राजस्थान, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में अलग-अलग स्थानों पर बिजली गिरने के साथ साथ तेज हवाओं के साथ बारिश की संभावना है।

समाचार एजेंसी एएनआइ ने मौसम विभाग (Meteorological Department) के हवाले से बताया है कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण अफगानिस्‍तान (Afghanistan) और उसके समीपवर्ती इलाकों पर एक चक्रवाती दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। इससे समुद्र में तेज हलचल दर्ज की जा सकती है। विभाग ने अपने ऑल इंडिया वेदर बुलेटिन (All India Weather Warning Bulletin) में कहा है कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण जो दबाव बन रहा है उसका असर अगले 24 घंटे तक रहेगा।

मौसम विभाग ने कहा है कि पहाड़ी राज्‍यों में बर्फबारी और बारिश के कारण दिल्‍ली एनसीआर में न्‍यूनतम तापमान कम होकर 15 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच जाएगा। यही नहीं इन इलाकों में वातावरण में नमी भी 65 फीसद तक बढ़ जाएगी। इससे दिल्‍ली वालों को मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। यही नहीं मुंबई में आसमान साफ रहेगा और न्‍यूनतम तापमान 22 डिग्री तक पहुंच सकता है। 

पश्चिम बंगाल से आ रही एक जानकारी के मुताबिक, उन इलाकों के स्कूलों में आयोजित होने वाली समस्त परीक्षाएं बंगाल सरकार ने फिलहाल स्थगित कर दी हैं जहां पिछले हफ्ते चक्रवात बुलबुल ने बंगाल के तीन जिलों में भारी तबाही मचाई थी। 

बता दें कि उत्तराखंड में ऊंचाई वाले इलाकों में रुक-रुक कर बर्फबारी जारी है। बीते दो दिनों से बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम में ऊंची चोटियों पर बर्फबारी का दौर जारी है। शुक्रवार को कुमाऊं में भी उच्च हिमालयी पिंडर घाटी क्षेत्रों के खाती, बाछम, गोगिना आदि क्षेत्रों तथा पिथौरागढ़ जिले के राजरंभा, पंचाचूली एवं हंसलिंग आदि चोटियों में बर्फबारी हुई। इसके आगे भी जारी रहने की संभावना है। इससे मैदानी क्षेत्रों में सर्दी बढ़ गई है। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप