नई दिल्ली, (जेएनएन)। संयुक्त राष्ट्र महासभा में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के भाषण के बाद पाकिस्तान तिलमिला गया है। पाक विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नफीस जकारिया ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर सुषमा स्वराज के भाषण की आलोचना की।

जकारिया ने ट्वीट कर कहा कि भारत यह दावा करता है कि कश्मीर उसका अभिन्न अंग है। अगर ऐसा है तो ये सुरक्षा परिषद के एजेंडे में क्यों है।

सुषमा की स्पीच के तुरंत बाद ही जकारिया ने ट्वीट कर कहा ये अजीब है कि भारतीय विदेश मंत्री यूएन में यूएन के प्रस्तावों को ही अस्वीकार कर रही है।

बलूचिस्तान पर की गई सुषमा की टिप्पणी पर जकारिया ने ट्वीट कर कहा कि बलूचिस्तान के संदर्भ में भारत पाकिस्तान में अपनी विध्वंसक गतिविधियों को अंजाम देता रहा है। जो संयुक्त राष्ट्र के सिद्धांतों और अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन है।

सुषमा ने शरीफ को दिखाया आईना, कहा- कोई नहीं छीन सकता कश्मीर

'पाकिस्तान के बारे में भारत ने बोला झूठ'

संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की प्रतिनिधि मलीहा लोधी ने भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के भाषण के बाद पाकिस्तान का पक्ष रखा। उन्होंने सुषमा स्वराज के भाषण को 'झूठ और आधारहीन आरोपों का पुलिंदा' बताया है।

भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के भाषण के बाद मलीहा लोधी ने ट्विटर पर लिखा, "सबसे बड़ा झूठ ये है कि कश्मीर भारत का अविभाज्य हिस्सा है।"

मलीहा लोधी ने ट्विटर पर लिखा, "कश्मीर के विवाद को अंतरराष्ट्रीय तौर पर मान्यता मिली हुई है। ये संयुक्त राष्ट्र एजेंडा के सबसे पुराने विषयों में है।"

मलीहा लोधी ने आगे लिखा है, "दूसरा झूठ ये है कि कश्मीर में मानवाधिकारों का कोई उल्लंघन नहीं हो रहा है। जबकि उल्लंघन दस्तावेजों में दर्ज हैं।

"उन्होंने संयुक्त राष्ट्र में बलूचिस्तान का मुद्दा उठाए जाने पर सवाल किया है। मलीहा ने ट्विटर पर लिखा है, " बलूचिस्तान का मुद्दा उठाना, जो कि एक आंतरिक मुद्दा है, संयुक्त राष्ट्र के चार्टर के सिद्धांतों और अंतरराष्ट्रीय नियमों का खुला उल्लंघन है।"

सुषमा के भाषण के मुरीद हुए केजरीवाल तो विश्वास बोले 'भारतीय सिंहनी'

उन्होंने ये भी कहा है कि भारतीय विदेश मंत्री का ये दावा कि सही नहीं है कि उनके देश ने पाकिस्तान पर बातचीत के लिए कोई शर्त नहीं लगाई है।

UN में गरजीं सुषमा स्वराज, कहा कश्मीर का ख्वाब देखना छोड़ दे पाकिस्तान

Posted By: Manish Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप