नई दिल्ली, एएनआइ। दिल्ली में पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी माड्यूल का पर्दाफाश होने के बाद अब देश में सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हो गई हैं। दिल्ली और पड़ोसी राज्यों के पुलिस बलों और देश की विभिन्न खुफिया और सुरक्षा एजेंसियों ने भारत के मौजूदा सुरक्षा हालात को लेकर एक बैठक की। अधिकारियों ने बताया कि यह बैठक पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी मॉड्यूल का पर्दाफाश होने की पृष्ठभूमि में की गई है। सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली पुलिस मुख्यालय में दिल्ली पुलिस के साथ विभिन्न खुफिया एजेंसियों और सुरक्षा एजेंसियों की मीटिंग के दौरान अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के मुद्दे पर भारी चर्चा हुई।

रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रा) के प्रमुख, इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) के प्रमुख समेत कई शीर्ष खुफिया एजेंसियों के कई अधिकारी इस बैठक में शामिल हुए। सुरक्षा एजेंसियों के सूत्रों के अनुसार, इस अहम बैठक में इस बात पर चर्चा हुई कि अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे और वहां की मौजूदा स्थिति के बारे में भारत को कैसे बेहद जागरूक और सतर्क रहने की जरूरत है। शीर्ष खुफिया अधिकारियों ने बताया कि भारत को तालिबान और उसके मौजूदा स्वरूप और व्यवहार से बेहद सतर्क रहने की जरूरत है क्योंकि यह नई रणनीति के साथ भारत के लिए खतरा बनकर उभर सकता है।

इस बेहद अहम मीटिंग में पुलिस और खुफिया विभागों के कई राज्य अधिकारियों ने यह भी कहा कि पाकिस्तान और उसकी खुफिया एजेंसी इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (ISI) भारत में अपने जासूसी नेटवर्क को मजबूत करने के लिए कड़ी मेहनत कर रही है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान हनी ट्रैपिंग के जरिए देश के अधिकारियों से भारत के बारे में गोपनीय जानकारी हासिल करने की कोशिश कर रहा है।

सूत्रों ने कहा कि जम्मू-कश्मीर का मुद्दा और केंद्र शासित प्रदेश में चुनौतियां भी उपस्थित लोगों के बीच चर्चा का विषय थीं। इस दौरान मीटिंग में मौजूद अधिकारियों ने भारत में आतंकवाद फैलाने के लिए पाकिस्तान की रणनीतियों से निपटने के तरीकों पर भी मंथन किया।

गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मंगलवार को पाकिस्तान समर्थित आतंकी माड्यूल का पर्दाफाश करके पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई द्वारा प्रशिक्षित दो आतंकियों सहित कुल छह आतंकवादियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया था कि आतंकवादी गणेश चतुर्थी, नवरात्र और रामलीला त्योहारों को दौरान दिल्ली, उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र में कई जगहों पर बम विस्फोट करने की कथित साजिश रच रहे थे। उन्होंने बताया था कि पाकिस्तान में रह रहा अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का भाई अनीस इब्राहिम इस आतंकी योजना को अंजाम देने के लिए अंडरवर्ल्ड से जुड़ा हुआ था।

Edited By: Shashank Pandey