हैदराबाद, आइएएनएस। हैदराबाद में नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA), राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NPR) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन (NRC) के खिलाफ दिल्ली के शहीन बाग (Shaheen Bagh) जैसे विरोध प्रदर्शन करने की तैयारी कर रही महिलाओं के ग्रुप को सुबह हैदराबाद पुलिस ने नाकाम कर दिया।

ऐतिहासिक चारमीनार के पास मोगलपुरा इलाके में उस समय तनाव पैदा हो गया जब पुलिस ने नारे लगाने वाले कुछ युवकों को हिरासत में लिया। गुरुवार शाम को शुरू हुआ यह विरोध प्रदर्शन सुबह 4 बजे तक जारी रहा। खालिदा परवीन की अगुवाई में बुर्का पहनी हुई महिलाएं एक निजी परिसर में लगे टैंट में इकट्ठा होने लगी। धीरे-धीरे यहां इस प्रदर्शन में छात्र और कई और महिलाएं शामिल हो गईं।

सीएए, एनआरसी और एनपीआर को लेकर प्रदर्शन

बता दें कि प्रदर्शन कर रही महिलाएं नागरिकता कानून को निरस्त करने की मांग कर रही था। साथ ही एनपीआर और एनआरसी को लेकर भी यहां नारे लग रहे थे। मौके पर पहुंचे पुलिस के आला अधिकारियों ने प्रदर्शनकारियों से विरोध खत्म करने के लिए कहा, लेकिन महिलाएं वहां से हटने के लिए तैयार नहीं हुई। हालांकि, कुछ महिलाओं ने पुलिस अधिकारियों से शांतिपूर्ण विरोध जारी रखने की अनुमति देने की अपील भी की।

प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के खिलाफ की नारेबाजी

इसके बाद पुलिस ने महिलाओं को विरोध प्रदर्शन की जगह पर जाने से रोक दिया। इस दौरान कुछ छात्र पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। पुलिस औऱ प्रदर्शनकारियों के बीच कई घंटों तक गतिरोध जारी रहा। जिसके बाद कुछ प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

शाहीन बैग जैसे प्रदर्शन की तैयारी

वहीं, आयोजकों ने आरोप लगाया कि पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को जगह खाली करने के लिए निजी परिसर के मालिक पर दबाव डाला। शहर में पिछले कुछ दिनों के दौरान महिलाओं द्वारा विरोध प्रदर्शन की कई घटनाएं देखी गई है। दिल्ली और उत्तर प्रदेश समेत देश के अन्य स्थानों पर शाहीन बाग की तर्ज पर लगातार विरोध प्रदर्शन करने की कोशिश चल रही है।

Posted By: Manish Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस