बीजिंग। भारत और चीन ने सेनाओं के बीच बेहतर संवाद के लिए सैन्य मुख्यालयों के बीच हॉटलाइन स्थापित करने पर सहमति व्यक्त की है। साथ ही घुसपैठ की घटनाओं पर चर्चाओं के लिए नई बॉर्डर मीटिंग पोस्ट की स्थापना भी की जाएगी।

चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ने बताया कि नई दिल्ली में पिछले हफ्ते हुई भारत-चीन सीमा मामलों पर वर्किंग मैकेनिज्म फॉर कंसल्टेशन एंड कॉर्डिनेशन (डब्ल्यूएमसीसी) की बैठक में दोनों पक्षों ने स्पष्ट, सौहा‌र्द्रपूर्ण और रचनात्मक रवैया दिखाया। प्रवक्ता हुवा चनयिंग ने कहा कि सीमाई क्षेत्रों में शांति और स्थायित्व के लिए दोनों पक्ष अहम नतीजों पर पहुंचे। उन्होंने बताया, 'दोनों पक्ष सैन्य मुख्यालयों के बीच नियमित बैठक की व्यवस्था बनाने, सीमाई क्षेत्रों में नई बॉर्डर मीटिंग पोस्ट बनाने और सैन्य मुख्यालयों के बीच हॉटलाइन स्थापित करने पर सहमत हुए।' हुवा ने कहा कि इस सहमति से दोनों देशों के बीच सीमाई क्षेत्रों की स्थिरता को बनाए रखने और मतभिन्नताओं से निपटने के लिए सहयोग की भावना जाहिर होती है। इससे दोनों सेनाओं के बीच बेहतर संवाद स्थापित होगा और सीमा से जुड़े मुद्दों को सुलझाने में सहायता मिलेगी।

पढ़ें : चीन की टोह लेने उड़ा था चीता

नया दौर : दोस्ती की दरकार

Edited By: vivek pandey