नईदुनिया, भोपाल। मध्य प्रदेश में महू के सैन्य क्षेत्र से जासूसी करने के आरोप में पकड़े गए जवान अविनाश कुमार को पाकिस्तानी महिला ने अश्लील चैट के माध्यम से अपने जाल में फंसाया था। अश्लील चैट सार्वजनिक करने के नाम पर ब्लैकमेल करते हुए खुफिया जानकारियां मंगाते रही और इसके बदले उसे धनराशि भी भेजी गई।

सूत्रों के मुताबिक, अविनाश कुमार की सोशल मीडिया के माध्यम से जिस पाकिस्तानी महिला से दोस्ती हुई, उसके साथ वाट्सअप कॉल पर बातचीत होती थी। दोस्ती हो जाने पर उनके बीच कुछ अश्लील वीडियो चैटिंग भी हुई। महिला ने इस वीडियो चैटिंग की वीडियो और तस्वीरें ले लीं। कुछ दिन बाद अविनाश कुमार को महिला ने अश्लील वीडियो चैटिंग सार्वजनिक करने का डर दिखाकर ब्लैकमेल करना शुरू किया। इसके बदले अविनाश से कुछ जानकारियां मांगी और नहीं देने पर वीडियो कॉल को वायरल करने की धमकी दी।

असली पहचान जानने में जुटी एजेंसी

अविनाश को पाकिस्तानी महिला दोस्त ने अपना नाम प्रिशा अग्रवाल और राजस्थान निवासी बताया था। जबकि सूत्रों का कहना है कि जांच में पाया गया कि महिला न तो राजस्थान की निवासी है और न ही उसका नाम प्रिशा है।

महिला ने अविनाश कुमार को ब्लैकमेल करने के साथ प्रलोभन भी दिया और कुछ मौकों पर जानकारी देने के बदले धनराशि भी दी। एटीएस और केंद्रीय गुप्तचर एजेंसी उक्त महिला की असली पहचान जानने के साथ ही अविनाश को राशि किस माध्यम से आई, इसकी जांच में जुटी है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sanjeev Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप