नई दिल्‍ली, एजेंस‍ियां। चीन में कहर बरपा रहे कोरोना वायरस के चलते पूरी दुनिया में दहशत का आलम है। भारत सरकार भी इस मसले पर काफी एहतियात बरत रही है। समाचार एजेंसी एएनआइ ने सरकारी सूत्रों के हवाले से बताया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने नेपाल, भूटान और चीन की सीमाओं की निगरानी करने आईटीबीपी और एसएसबी के लिए एक एडवाइजरी जारी की है। सरकार की ओर से संबंधित विभागों को खास सतर्कता बरतने निर्देश दिए गए हैं। खासतौर पर उन चौकियों पर बेहद कड़ी नजर रखने को कहा गया है जो सीमा पर मौजूद हैं। एडवाइजरी में कहा गया है कि चेकप्‍वाइटों पर एयरपोर्टों जैसी जांच प्रक्रियाएं अपनाई जाएं।

इस बीच आइटीबीपी की ओर से कहा गया है कि छावला में उसकी ओर से स्‍थापित केंद्र में संदिग्‍ध मरीजों की देखभाल का काम शुरू हो चुका है। बल के प्रवक्‍ता विवेक पांडे ने बताया कि केंद्र में कुल 406 लोग हैं जिनकी फाइनल सैंपलिंग की जा रही है। गुरुवार को कुल 249 नमूने लिए गए थे आज शुक्रवार को भी 157 नमूने लिए गए। दो से तीन दिनों में रिपोर्ट मिल जाएगी। यदि परीक्षणों की अंतिम रिपोर्ट निगेटिव आती है तो लोगों को अगले हफ्ते तक घर भेज दिया जाएगा।

वहीं कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए स्पाइसजेट ने 16 फरवरी से 29 फरवरी तक दिल्ली से हांगकांग जाने वाली सभी उड़ानों को रद कर दिया है। मालूम हो कि कोरोना वायरस से चीन में अब तक लगभग 1500 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 64,894 लोगों में इसके संक्रमण की पुष्टि हुई है। मालूम हो कि इंडिगो और एयर इंडिया पहले ही भारत और चीन के बीच की सभी उड़ाने रद कर चुके हैं। विमानन कंपनी स्पाइसजेट के प्रवक्‍ता ने बताया कि कंपनी ने दिल्ली-हांगकांग जाने वाली दैनिक उड़ानें 16 से 29 फरवरी तक अस्थायी रूप से निलंबित करने का निर्णय लिया है।

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस