नई दिल्ली, (जागरण संवाददाता)। बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में कुलपति बनाए जाने पर प्रो. राकेश भटनागर ने कहा कि मैं एक शिक्षक हूं और बीएचयू में शिक्षा का स्तर ऊंचा हो, यही मेरी प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि मेरी प्रतिबद्धता है कि विश्वविद्यालय में अच्छे शिक्षक आएं, अच्छे छात्र आएं, गुणवत्तापरक शोधकार्य हों और एक अच्छा शैक्षणिक माहौल विकसित हो सके।

मूलत: उत्तर प्रदेश (सहारनपुर) के निवासी प्रो. भटनागर की प्रारंभिक शिक्षा सहारनपुर के बाद कानपुर में हुई। 1997 से वह जेएनयू में प्राध्यापक हैं। उन्होंने कहा कि आज बीएचयू जिस स्तर पर है, अच्छा है। लेकिन, मैं चाहता हूँ उससे भी ऊपर जाए। मैं उत्तर प्रदेश से हूं तो इस विश्वविद्यालय की अच्छी जानकारी है। यह पूछे जाने पर की विगत महीनों में बीएचयू में जो छात्र आंदोलन हुए, इस तरह की चुनौतियों को कैसे देखते हैं? इस पर प्रो भटनागर ने कहा कि मैं चुनौतियों को स्वीकार करता हूं और सुलझाता हूं।

हाल के वर्षों में देखा गया है कि केंद्रीय विश्वविद्यालयों की शैक्षणिक व्यवस्था को एक खास समूह अस्थिर करने पर लगा है, इस बारे में आपकी क्या राय है? इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मैं अभी बीएचयू जाऊंगा और वहां की स्थिति का जायजा लूंगा। बात करके तथ्यों को समझूंगा। उन्होंने कहा कि मैं बातचीत में विश्वास रखता हूं। मेरा मानना है की यदि आप खुले मन से बातचीत करते हैं तो हर समस्या का समाधान निकलता है।

Edited By: Arti Yadav