मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, एएनआई। जम्मू-कश्मीर में बिगड़ते हालात और सुकमा नक्सली हमले को लेकर गृह मंत्री राजनाथ सिंह के घर पर उच्चस्तरीय बैठक बुलाई है। गृह मंत्री के घर पर जारी बैठक में गृह सचिव, सीआरपीएफ के डीजी, आईबी चीफ और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार मौजूद हैं।  

छत्तीसगढ़ के सुकमा में हुए नक्सली हमले में सीआरपीएफ के 25 जवान मारे गए थे, जिसके बाद गृह मंत्रालय ने आपात बैठक बुलाई थी। सरकार साफ कर चुकी है कि वह नक्सलियों के खिलाफ अपनी रणनीति को बदलने जा रही है।
इसी रणनीति के तहत सरकार ने अब नक्सलियों को उनके ही मांद में घुसकर मुंहतोड़ जवाब देने का फैसला किया है। इस संबंध में 2 मई को राज्य के आला अधिकारियों की बैठक बुलाई गई है, जिसे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करेंगे। 

वहीं दूसरी तरफ कश्मीर में जारी हालात को लेकर भी सरकार बेहद चिंतित है। हाल ही में जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती दिल्ली आई थीं, जहां उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री के साथ मुलाकात की थी।

गृह मंत्री से मुलाकात के बाद मुफ्ती ने कहा था कि अगले दो से तीन महीनों में घाटी के हालात सामान्य हो जाएंगे। हिजबुल मुजाहिद्दी ने कमांडर बुरहान वानी की मुठभेड़ में हुई मौत के बाद से घाटी में हालात बेहत तनावपूर्ण है।

यह भी पढ़ें: अमित शाह ने पीडीपी से गठबंधन पर विधायकों से मांगी राय

यह भी पढ़ें: सेना की बदौलत जम्‍मू कश्‍मीर के रिकार्ड 28 छात्रों ने किया JEE क्‍वालीफाई

Posted By: Abhishek Pratap Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप