नई दिल्ली, जेएनएन। देश के चार राज्यों में लौटते मानसून ने बाढ़ के हालात बना दिए हैं। एकतरफ बिहार के पटना में 75 की बाढ़ जैसे हालात हैं। इससे बिहार में शनिवार को 15, उत्तर प्रदेश में 31 और मध्य प्रदेश में तीन और झारखंड में छह लोगों की मौत हुई है। पिछले 24 घंटों में हुई भीषण बारिश के चलते सैंकड़ों गांवों में पानी भरने के चलते लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है।

झील बना पटना

पटना में पिछले 24 घंटे में हुई 158 मिमी बारिश ने राजधानी को झील में बदल दिया है। इससे कुछ इलाकों में छह फीट तक पानी भर गया है। इसके अलावा सांसद राजीव प्रताप रुडी के घर में दो फीट तक पानी भर गया है। इसी तरह मंत्री प्रेम कुमार और नंद किशोर यादव आदि के घरों में भी बारिश का पानी जमा है।

परीक्षा स्थगित, ऑपरेशन भी टला

पूरे बिहार में बाढ़ जैसे हालात हैं। ऐसे में जिला प्रशासन की ओर से लोगों की सुविधा के लिए नावें चलाई जा रही हैं। चूड़ा-गुड़ बांटा जा रहा है। फिलहाल स्कूल-कोचिंग बंद करने का निर्देश दिया गया है। शनिवार को पटना विश्वविद्यालय और पाटलिपुत्र विश्र्वविद्यालय में होने वाली परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं। वहीं, एनएमसीएच में बारिश के कारण पानी इमरजेंसी में घुस आया है। इसके कारण कई ऑपरेशन टालने पड़े।

टूट रहे बांध, सरयू और गंगा सभी नदियों में उफान

भारी बारिश से छपरा जिले के जलालपुर प्रखंड में सोंधी नदी के पानी के दबाव से लंगड़ी बांध टूट गया। वहीं, गोपालगंज में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई है। सिवान में सरयू में पानी काफी बढ़ गया है। बक्सर में गंगा उफान पर हैं। इसके अलावा कोसी-सीमांचल और उत्तर बिहार की नदियां भी उफान पर हैं।

उप्र में आफत बनी बारिश, 31 लोगों की मौत

उत्तर प्रदेश के पूर्वी और मध्य पूर्वी इलाके में बारिश ने लोगों को परेशानी में डाल दिया है। बारिश के चलते फसलें बर्बाद हो चुकी हैं जबकि शनिवार को बारिश के चलते विभिन्न जिलों में मकान व पेड़ गिरने और सड़कें धंसने से 31 लोगों की मौत हो गई। जबकि कई लोग जख्मी हो गए। मौसम विभाग की मानें तो अभी 24 घंटे मौसम के ऐसा ही बना रहेगा।

मप्र सामान्य से 41 फीसद ज्यादा बारिश, तीन की मौत

मध्य प्रदेश में बारिश का सिलसिला जारी है। शनिवार सुबह तक प्रदेश में 1324.6 मिमी. बरसात हो चुकी है। यह सामान्य (936.3मिमी.) से 41 फीसद अधिक है। इससे प्रदेश में तीन लोगों की मौत भी हुई है। मौसम विभाग के अनुसार यह सिलसिला अक्टूबर के पहले हफ्ते तक जारी रह सकता है।

टापू बने झारखंड के गांव, गई छह की जान

झारखंड में लगातार हो रही बारिश ने कई इलाकों में तबाही मचा दी है। शनिवार को नदियों का जलस्तर बढ़ने से नदी पार करने के दौरान कुछ लोग तेज धार में बह गए। वहीं, दीवार गिरने से एक महिला और एक बच्ची की मौत हुई है। बारिश के कारण राजधानी रांची समेत विभिन्न जिलों में हर ओर जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा। चतरा में नदी किनारे बसे 100 गांव नदियों पर पुल नहीं होने के कारण टापू बन गए हैं।

Posted By: Sanjeev Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप