नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। मंगलवार को दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने ¨हसा प्रभावित इलाकों की कमान संभाली। इससे पहले घोंडा चौक, नूर-ए-इलाही, मौजपुर चौक, ब्रह्मपुरी रोड, करावल नगर रोड, चांद बाग, वजीराबाद रोड पर दंगाइयों ने जमकर उत्पाद मचाया। आखिर में जब पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे तब जाकर माहौल थोड़ा शांत हुआ। पुलिस उपायुक्त विजय देव, राजन भगत और एसीपी संदीप लांबा व उदयवीर बिधूड़ी ने घोंड़ा चौक पर मोर्चा संभाला। इसके साथ ही एसीपी प्रशांत विहार ने मौजपुर चौक पर मोर्चा संभाला।

पुलिस के पहुंचने पर भी लोग सड़कों पर खड़े हुए थे। अधिकारियों ने ब्रह्मपुरी रोड, गांवड़ी रोड और मौजपुर रोड, जाफराबाद, बाबरपुर सहित कई दंगा प्रभावित इलाकों में फ्लैग मार्च किया और शांति बनाए रखने की अपील की। इस दौरान उन्होंने सड़क पर खड़े लोगों से बातचीत की और उन्हें समझाया कि यह वक्त ऐसा नहीं है कि जब सड़कों पर इस तरह से खड़ा हुआ जाए। उस दौरान गांवडी रोड पर कुछ लोगों ने छतों से पथराव की कोशिश की तो पुलिस ने उन्हें कार्रवाई की चेतावनी दी जिसके बाद वे छिप गए।

इसके बाद पुलिस ने फ्लैग मार्च में क्षेत्र के प्रमुख लोगों को बुलाया और उनसे अपील की वह क्षेत्र के लोगों को समझाएं कि हिंसा करना गलत है। इसके साथ ही चेतावनी दी गई कि दंगा करने वालों से पुलिस अब बेहद सख्ती से निपटेगी और गोली मारने से भी परहेज नहीं किया जाएगा। इसके साथ ही अधिकारियों ने अमन कमेटी के लोगों व क्षेत्र के अन्य गणमान्य लोगों के साथ भी बैठक करके कहा कि वह अपने आसपास के लोगों को शांति व भाईचारा कायम करने के लिए समझाएं। इसके अलावा धार्मिक स्थलों से भी लोगों से शांति बनाए रखने की अपील करने के लिए कहा गया। पुलिस अधिकारियों ने लोगों को आश्वस्त किया कि सभी को सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी किसी को भी डरने की जरूरत नहीं है।

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस