नई दिल्‍ली, एएनआइ। देश में कोरोना और टीकाकरण की स्थिति को लेकर स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की प्रेस कांफ्रेंस में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि देश में अभी 22 जिले ऐसे हैं जहां पिछले 4 हफ्तों में कोरोना के मामलों में वृद्धि हुई है। इसमें केरल के 7 जिले, मणिपुर के 5 जिले, मेघालय के 3 जिले, अरुणाचल प्रदेश के 3 जिले, महाराष्ट्र के 2 जिले, असम का 1 जिला, त्रिपुरा का 1 जिला शामिल है।

उन्होंने कहा कि शुरू के कुछ हफ्तों में कोरोना के मामलों में एक तेज कमी दर्ज की जा रही थी लेकिन पिछले दो-तीन हफ्तों से कोरोना वायरस के मामलों में हो रही गिरावट की दर कम हुई है जो चिंता का विषय है। हम इसे लेकर राज्यों के साथ बात कर रहे हैं। लव अग्रवाल ने कहा कि देश में अभी 54 जिलों में पॉजिटिविटी रेट 10 फीसद से ज्यादा है।

उन्होंने कहा, वैश्विक नजरिए से देखें तो महामारी अभी खत्म नहीं हुई है। दुनिया भर में मामलों की संख्या में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है, जो चिंता का विषय बना हुआ है। हमें सख्ती के साथ वायरस के प्रसार को रोकने पर काम करना होगा।

प्रेस वार्ता में नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डा. वी. के. पॉल भी उपस्थित थे। उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर अभी खत्म नहीं हुई है। कुछ क्षेत्र चिंता का विषय बने हुए हैं। वैक्सीनेशन संक्रमण कम जरूर करेगा लेकिन संक्रमण ना हो इसकी गारंटी नहीं है। उन्होंने कहा कि ऐसी कोई भी वैक्सीन नहीं है जो दावा कर सके कि 100 फीसद संक्रमण नहीं होगा। इससे बीमारी की गंभीरता और मौत को रोका जा सकता है।

डॉ वीके पॉल ने कहा, एएफएमसी में 15 लाख डॉक्टरों और फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं पर अध्ययन किया गया था, जिन्हें कोविशील्ड दी गई थी। इस अध्ययन में पता चला कि दूसरी लहर के दौरान संक्रमण में 93 फीसद की कमी आई थी और मृत्यु दर में 98 फीसद की कमी दर्ज की गई थी।

बता दें कि आज सुबह स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक, कल 24 घंटों के दौरान संक्रमण के 30 हजार से कम मामले सामने आए हैं। इस दौरान 29,689 नए मामले दर्ज किए गए हैं। भारत में अब तक कुल 3,14,40,951 पॉजिटिव मामले दर्ज हो चुके हैं।

Edited By: Neel Rajput