नई दिल्ली, प्रेट्र। Article 370 की समाप्ति पर भारत के रुख को सूरीनाम का भी समर्थन मिला है। उपराष्ट्रपति माइकल अश्विन अधिन ने कहा है कि उनका देश संवाद में विश्वास की जरूरत महसूस करता है, लेकिन अन्य देशों के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप को किसी भी कीमत पर बढ़ावा नहीं देगा।

इसी के साथ उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र महासभा में अनुच्छेद-370 के मुद्दे को उठाया जा सकता है और सूरीनाम को इसके लिए तैयार रहना होगा। गुरुवार रात यहां एक कार्यक्रम से इतर मीडिया से बात करते हुए उन्होंने यह टिप्पणी की।

यूएन में नहीं उठाया जाएगा कश्मीर मुद्दा

अधिन ने कहा कि वह 26 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) और इंडियन-कैरेबियन कम्युनिटी एंड कॉमन मार्केट में सूरीनाम की तरफ से प्रतिनिधित्व करेंगे। उन्होंने कहा कि सूरीनाम इस मुद्दे को नहीं उठाएगा। हालांकि मुझे लगता है कि इस मुद्दे को उठाया जाएगा और इसके लिए हमें तैयार रहना होगा।

संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक से इतर पीएम मोदी इंडिया पैसिफिक आइलैंड लीडर्स मीटिंग और इंडियन-कैरेबियन कम्युनिटी एंड कॉमन मार्केट की सह-अध्यक्षता करेंगे। सूरीनाम के उपराष्ट्रपति ने कहा कि मैं संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक से अलग पीएम मोदी से मुलाकात करूंगा और कश्मीर से संबंधित अनुच्छेद-370 के मुद्दे पर बात कर सकता हूं।

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप