नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो। संयुक्त राष्ट्र संघ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान को कश्मीर मुद्दा द्विपक्षीय बातचीत तक सीमित रखने की नसीहत दी को कड़वी प्रतिक्रिया मुंबई आतंकी हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद की ओर से आई। लश्कर-ए-तैयबा सरगना ने रविवार को ट्विटर के जरिए कश्मीर को लेकर भारत और प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ जहर उगला। भारत के मोस्ट वांटेड आतंकी ने कश्मीर मुद्दे को लेकर यूएन में नवाज शरीफ के बयानों की जमकर तारीफ भी की।

आतंकवाद पर नकेल कसने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने पाक को उसकी जिम्मेदारी याद दिलाई। इस पर दक्षिण एशिया में आतंक का कारोबार करने वाले लश्कर मुखिया ने भारत को अस्थिरता की जड़ बता डाला। संयुक्त राष्ट्र में भारतीय प्रधानमंत्री के भाषण के बाद से सोशल नेटवर्किग साइट ट्विटर सक्रिय सईद ने लिखा कि इस क्षेत्र में अस्थिरता के लिए भारत ही जिम्मेदार है, क्योंकि कश्मीर मुद्दा हल किए बिना स्थायी शांति कायम नहीं हो पाएगी।

घरेलू मोर्चे पर राजनीतिक विरोध के बीच सेना की मदद से टिके पाक प्रधानमंत्री के कश्मीर राग को सईद ने पाकिस्तान की राष्ट्रीय भावना करार दिया। महत्वपूर्ण है कि शरीफ ने संयुक्त राष्ट्र से कश्मीर मुद्दे को सुलझाने के लिए दखल देने की मांग की थी। हालांकि इसका तीखा जवाब देते हुए भारतीय प्रधानमंत्री ने संयुक्त राष्ट्र के मंच से ही स्पष्ट कर दिया था कि यह एक द्विपक्षीय मुद्दा है।

मोदी ने इस बात पर भी जोर दिया है कि भारत पड़ोसी पाकिस्तान के साथ अच्छे रिश्ते चाहता है, लेकिन इसके लिए आतंकवाद पर नकेल जरूरी है। महत्वपूर्ण है कि भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में 26 नवंबर 2008 के आतंकी हमले के गुनाहगारों के सजा दिलाने की कोशिश लगातार एक फांस बनी हुई है। पाकिस्तान में मामले को लेकर अदालती सुनवाई गाहे-बगाहे किसी न किसी कारण से टाल दी जाती है।

पढ़ें: पाक में आई बाढ़ के लिए सईद ने भारत को ठहराया जिम्मेदार

पढ़ें: पाकिस्तान ने हाफिज को अपना 'आजाद' नागरिक बताया

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस