वाइकोम, पीटीआइ। केरल लव जिहाद मामले में केंद्र बिंदु बन गई हादिया के पिता ने दावा किया है कि कुछ लोग उनकी बेटी की पढ़ाई को रोकने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह उसके संरक्षण के लिए अदालत जाएंगे। हादिया के पिता केएम अशोकन ने गुरुवार को कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने उसे तमिलनाडु के होम्योपैथी मेडिकल कॉलेज भेजा था। अदालत का मकसद उसकी पढ़ाई पूरी करने देना था और उसे रोकने का कोई भी कदम अपराध होगा।

तमिलनाडु के सलेम में शिवराज होम्योपैथी मेडिकल कॉलेज में बुधवार को हादिया को संवाददाता सम्मेलन करने की अनुमति देने पर भी उन्होंने नाखुशी जताई। उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय ने उसे पढ़ाई पूरी करने के लिए वहां भेजा है। लेकिन उसे ऐसा नहीं करने दिया जा रहा। कुछ लोग उसकी पढ़ाई को बाधित करने की कोशिश कर रहे हैं। उसे संवाददाता सम्मेलन करने के लिए धमकी दी गई। मैं चिंतित हूं।

पूर्व सैन्यकर्मी अशोकन ने दावा किया कि उनकी बेटी को सीरिया ले जाने के लिए उसकी सोच बदल दी गयी। पिता ने कहा कि उन्हें इस बात को लेकर कोई दिक्कत नहीं है कि उनकी बेटी किस धर्म को अपनाना चाहती है।

उल्लेखनीय है कि केरल उच्च न्यायालय ने हादिया के साथ शफीन जहां की शादी को रद कर दिया था। कॉलेज में शफीन के हादिया से मिलने की कोशिश की खबरों पर उन्होंने कहा कि मैं अपनी बेटी को बचाने के लिए सभी संभावित कदम उठाऊंगा। मुझे न्याय व्यवस्था पर पूरा भरोसा है।

यह भी पढ़ें: घर से भागी हिंदू युवती ने शादी के लिए मुस्लिम प्रेमी के सामने रखी ये शर्त

 

Posted By: Tilak Raj