सिलीगुड़ी (ब्यूरो)। भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष दिलीप घोष ने मंगलवार को कहा कि गोरखाओं के खून से खेलने वालों को मजबूत करने के बजाय उखाड़ फेंकने का समय आ गया है। दार्जिलिंग में परिवर्तन यात्रा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पहाड़वासियों को 1980 से 88 तक और 2017 में जिस तरह हिंसा की आग में झोंका गया उसे यहां का बच्चा-बच्चा कभी नहीं भूल पाएगा।

परिवर्तन यात्रा में उमड़ी जनता, भाजपा ने कहा- वोट के लिए नहीं होगा पहाड़वासियों का इस्तेमाल

इस दौरान उन्होंने कहा कि जो सिर्फ वोट के लिए पहाड़वासियों का इस्तेमाल करता हो, उसे पहचानें। परिवर्तन यात्रा में खासी जनता उमड़ी थी।

भाजपा गोरखाओं के साथ कदम से कदम मिलाकर चल रही

उन्होंने कहा कि पहाड़ में विपत्ति के समय गोरखाओं के कथित हमदर्द फरार हो गए थे, जबकि भाजपा कदम से कदम मिलाकर चल रही है। इससे कोई भी इन्कार नहीं कर सकता।

दिलीप घोष ने कहा- काले झंडे दिखाकर भाजपा घबराने वाली नहीं है

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि आश्चर्य होता है कि जब यहां की स्थिति देखने मैं पहाड़ पर पहुंचा तो मुझ पर हमले किए गए। अब भी रास्ते में मुझे काले झंडे दिखाए गए। इससे ना हमारी पार्टी और ना ही हम घबराने वाले हैं। हम एक राष्ट्र, श्रेष्ठ राष्ट्र का अनुसरण करते हुए समस्या का समाधान करना चाहते हैं।

ममता सरकार के घिनौने हथकंडों का जवाब जनता देगी

उन्होंने कहा कि पहाड़ के तीन विधानसभा क्षेत्रों को जीतने के लिए कोलकाता में बैठी राज्य सरकार घिनौने हथकंडे अपना रही, जिसका जवाब यहां की जनता देगी। इस दौरान दार्जिलिंग के विधायक नीरज जिम्बा और सांसद राजू बिष्ट ने भी संबोधित किया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप