नई दिल्ली (जेएनएन)। अच्छे और बुरे आतंकवाद के बीच फर्क करना अब पाकिस्तान को भारी पड़ रहा है। देर रात पाकिस्तान के क्वेटा में स्थित एक पुलिस ट्रेनिंग सेंटर पर बंदूकधारी आत्मघाती हमलावरों ने हमला कर दिया जिसमें 57 कैडेटों के मारे जाने की खबर है जबकि सौ से अधिक लोगों के घायल होने की खबर है।

पढ़ें- पाक के क्वेटा में पुलिस ट्रेनिंग सेंटर पर आत्मघाती हमला, 57 कैडेट्स की मौत

आतंकियों को पालने-पोषने का खामियाजा पाकिस्तान को समय-समय पर भुगतना पड़ता है, लेकिन पड़ोसी है कि सुधरने का नाम ही नहीं लेता। पिछले एक वर्ष के दौरान पाकिस्तान में आतंकियों ने कई हमले किए हैं, इनमें प्रमुख रूप से शामिल हैं-

20 जून, 2016- उत्तर-पश्चिम पाकिस्तान के अशांत खैबर-पख्तूनख्वा प्रांत में भारी हथियारों से लैस आतंकवादियों ने प्रतिष्ठित बाचा खान यूनिवर्सिटी में घुसकर छात्रों और शिक्षकों पर अंधाधुंध फायरिंग की, जिसमें कम से कम 25 की मौत हो गई थी जबकि कई घायल हो गए थे।

21 मार्च, 2016- पाकिस्तान में चारसाड्डा के शाबकादर इलाके की स्थानीय अदालत परिसर में हुए एक विस्फोट में आठ लोग मारे गए और 21 अन्य घायल हो गए थे। पुलिस ने कहा है कि आत्मघाती हमलावर ने यह हमला किया था।

16 मार्च, 2016- आतंकियों ने एक बस को निशाना बनाते हुए पेशावर में एक बस में बम विस्फोट करवा दिया जिसमें 17 लोगों की मौत हो गयी जबकि 53 लोग घायल हो गए।

27 मार्च, 2016- पाकिस्तान स्थित पंजाब प्रांत की राजधानी लाहौर में ईस्टर का उत्सव मनाए जाने के दौरान एक भीड-भाड वाले 'गुलशन-ए-इकबाल' पार्क में एक आत्मघाती हमलावर ने विस्फोट किया जिसमें महिलाओं और बच्चों समेत कम से कम 74 लोग मारे गए और करीब 340 लोग घायल हो गए।

अगस्त 2016- पाकिस्तान के बलुचिस्तान प्रांत के क्वेटा में एक बम धमाका हुआ। धमाका क्वेटा के सिविल अस्पताल में किया गया है जिसमें 75 लोगों की मौत हो गई है, जबकि धमाके में 30 से ज्यादा लोग जख्मी हुए हैं।

सितंबर, 2016- पाकिस्तान के मरदान शहर में एक आत्मघाती हमलावर ने जिला कोर्ट पर हमला किया जिसमें कम से कम दस लोग मारे गए हैं और करीब 40 लोग घायल हुए।

सितंबर 2016- पाकिस्तान की पश्चिमोत्तर कबायली मोहमंद एजेंसी में शुक्रवार की नमाज के दौरान एक मस्जिद में हुए आत्मघाती विस्फोट में 36 लोग मारे गए जबकि कई लोग घायल हो गए।

पढ़ें- अफगानिस्तान में तालिबान का हमला नाकाम, 32 आतंकियों की मौत

Posted By: kishor joshi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप