नई दिल्ली, एएनआइ।  केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अगुवाई में मंत्रियों के समूह (GoM) ने एयर इंडिया के विनिवेश के लिए एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट (EOI) को आमंत्रित करने की मंजूरी दे दी है। दरअसल, मंगलवार को एयर इंडिया को लेकर चल रही मंत्री समूह की बैठक खत्म हो गई है। इस बौठक के दौरान ये फैसला लिया गया है।

  

आपको समझा दे की एयर इंडिया की बिक्री के लिए  अभि‍रुचि पत्र (EOI) को एक बार फिरे से आमंत्रित किया गया है। एयर इंडिया की बिक्री के तौर तरीकों के बारे  में प्रीलिमिनरी इन्फोर्मेशन मेमोरंडम के तहत चर्चा का आधार पर आज बैठ हुई थी। क्यों बना GoM

पिछले साल समुह में शामिल हुए शाह

पिछले साल जुलाई में इस समुह में केंद्रीय गृह मंत्री अतिम शाह को शामिल किया गया इसस पहले इस समूह में केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी थे। दरअसल, इस समूह को ये फैसला करना है कि आखिर एयर इंडिया की बिक्री का क्या तरीका होना चाहिए। इसमें शाह के अलावा वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी और वाणिज्य एवं रेलवे मंत्री पीयूष गोयल शामिल हैं।

कब और क्यों हुआ था समूह का गठन

इंडिया स्पेसिफिक अल्टरनेटिव मेकेनिज्म नाम के इस समूह को 2017 जून में गठित किया गया था। दरअसल, समूह में आर्थिक संकट से जूझ रही सार्वजनिक क्षेत्र की विमानन कंपनी एयप इंडिया में विनिवेश के लिए सरकार व्यापक तरीके से तैयारी कर रही है। इसके लिए सरकार जल्द ही विनिवेश प्रक्रिया शुरू करने वाली है। 

कंपनी पर कई करोड़ का कर्ज

जानकारी के लिए बता दें कि काफी लंबे समय से एयर इंडिया घाटे में चल रही है। 2018-19 में कंपनी को करीब 8,556.35 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था। एयरलाइन पर 50,000 करोड़ रुपए से भी ज्यादा का कर्ज है। यही कारण है कि सरकार इसे बेचना चाहती है। बिक्री पूरी करने की योजना मार्च तक है। 

ये भी पढ़ें: न्यूयॉर्क में बजा भारतीय महिलाओं का डंका, अर्चना राव और दीपा अंबेकर जज नियुक्त

Posted By: Ayushi Tyagi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस