नई दिल्ली, प्रेट्र। कोरोना संक्रमण में आ रही कमी के मद्देनजर कार्मिक मंत्रालय की ओर से सोमवार को जारी एक आदेश में अवर सचिव और उससे उच्च स्तर के सभी अधिकारियों से कार्यदिवसों में कार्यालय आने के लिए कहा गया है। हालांकि दिव्यांग और गर्भवती महिला अधिकारियों को घर से काम जारी रखने की अनुमति दी गई है।

केंद्र सरकार के सभी मंत्रालयों एवं विभागों को जारी आदेश के मुताबिक, अवर सचिव से नीचे स्तर के 50 फीसद अधिकारी कार्यदिवसों में कार्यालय आएंगे और बाकी घर से काम करेंगे। कार्यालय आने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों को कोरोना प्रोटोकाल का पालन करना होगा। इसमें किसी प्रकार की ढील को गंभीरता से लिया जाएगा।

कार्यालयों में भीड़ से बचने के लिए कार्यालयों के समय सुबह नौ से शाम 5.30 बजे, सुबह 9.30 से शाम छह बजे और सुबह 10 से शाम 6.30 बजे तक होंगे।

कंटेनमेंट जोन में रहने वाले अधिकारी व कर्मचारी उसके खुलने तक घर से काम करेंगे। मीटिंग जहां तक संभव हो, वीडियो कांफ्रेंसिंग से होंगी और विजिटर्स से तब तक आमने-सामने मीटिंग नहीं होगी जब तक बहुत जरूरी न हो। ये निर्देश 16 से 30 जून तक प्रभावी होंगे।

कोरोना के मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 95.43 फीसद

देश में कोरोना के मामलों की बात करें तो केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे में संक्रमण से 3,921 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 3,74,305 हो गई है। वहीं, उपचाराधीन मरीजों की संख्या भी कम होकर 9,73,158 हो गई है, जो कुल मामलों का 3.30 फीसद है। पिछले 24 घंटे में उपचाराधीन मामलों में कुल 53,001 की कमी आई है। देश में अभी तक कुल 2,81,62,947 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं और मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 95.43 फीसद है। कोरोना से से मत्यु दर बढ़कर 1.27 फीसद हो गई है।