तिरुवनंतपुरम, पीटीआइ। केरल में आने वाले समय में अब भारी बारिश का अनुमान नहीं है। भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने केरल से 'रेड अलर्ट' हटाते हुए ये जानकारी दी है। केरल के लोग अब राहत की सांस ले सकते हैं। मौसम विभाग द्वारा सोमवार को केरल के कई क्षेत्रों के लिए जारी किया गया रेड अलर्ट मंगलवार को हटा लिया गया है। बता दें कि नॉर्थ ईस्ट मानसून के कारण हुई जोरदार बारिश के बाद सोमवार को सात जिलों में रेड अलर्ट जारी किया गया था। ऐसे में लोगों को सर्तक रहने और मछुआरों को समुद्र से दूर रहने की चेतावनी जारी की गई थी।

मौसम विभाग की ओर से अब पूरे केरल में रेड अलर्ट हटा दिया गया था, सिर्फ इडुक्की के लिए एक ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। वहीं, मौसम विभाग ने पठानमथिट्टा, मलप्पुरम, कोझीकोड और वायनाड में भी पीला अलर्ट जारी किया। बता दें कि सोमवार को केरल के चार जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी होने के बाद वहां एनडीआरएफ की टीमें तैनात हो गई थी। हालांकि, अब आम लोगों के साथ-साथ एनडीआरएफ ने भी कुछ राहत की सांस ली होगी।

मानसून की विदाई होने के बाद भी केरल और तमिलनाडु के कई इलाकों में भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। केरल और तमिलनाडु के कई इलाकों में भारी बारिश का दौर जारी है और हालात बाढ़ जैसे बन गए थे। पिछले कई दिनों से भारी बारिश की वजह से केरल की नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। इधर बारिश की वजह से तमिलनाडु के रामनाथपुरम के सभी स्कूल-कॉलेज आज बंद कर दिए गए हैं।

इसे भी पढ़ें: तमिलनाडु-केरल में भारी बारिश से बाढ़ जैसे हालात, स्कूल-कॉलेज बंद; यहां रेड अलर्ट जारी

गौरतलब है कि देश के ज्यादातर हिस्सों में आने वाला दक्षिण पश्चिम मानसून अपने निर्धारित समय पर आया और जमकर बरसा भी। अब जाते-जाते भी मानसून कहर बरपा रहा है। बता दें कि 15 अक्टूबर के आसपास विदा हो गया, लेकिन इस दौरान पूर्वोत्तर और दक्षिणी राज्यों में सामान्य से कम बारिश हुई थी। मौसम विभाग के जारी बुलेटिन के मुताबिक आने वाले चार-पांच दिनों में कई जगहों पर अच्छी बरसात होने की संभावना है।

Posted By: Tilak Raj

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप