पणजी, आइएएनएस। अगले साल गोवा में होने जा रहे चुनावों से पहले मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने राज्य की जनता से अगले छह महीने में 10,000 सरकारी नौकरियों का वादा किया है। उन्होंने गोवा क्रांति दिवस पर अपने भाषण के दौरान ये बातें कही हैं। कोरोना महामारी के दौरान अपना रोजगार खो चुके लोगों को लेकर सीएम ने अपनी चिंता जाहिर की है। सावंत ने यह भी कहा कि गोवा सरकार आगामी शैक्षणिक वर्ष में राज्य के स्कूलों में कोडिंग और रोबोटिक्स मॉड्यूल शुरू करेगी।

सावंत ने अपने वर्चुअल भाषण में कहा, 'मैंने देखा है कि कोविड के कारण निजी क्षेत्र में कई लोगों ने अपना रोजगार खो दिया है। गोवा में कई युवा अब बेरोजगार हैं। मुझे इस बात की चिंता है।' उन्होंने आगे कहा कि अगले छह महीनों में सभी 10,000 सरकारी रिक्तियों को भर दिया जाएगा। कुछ के लिए विज्ञापन निकाल दिए गए हैं और जिनके लिए अब तक विज्ञप्ति नहीं निकाली गई है उसे भी आने वाले दिनों में पूरा कर दिया जाएगा।

सीएम सावंत ने कहा, 'हम स्कूल की योजना में कोडिंग और रोबोटिक शिक्षा शुरू कर रहे हैं। यह योजना हमारे छात्रों को कोडिंग और रोबोटिक्स सिखाने के लिए तैयार की जा रही है।' मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि 'इस साल संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित प्रतियोगी परीक्षाओं के साथ-साथ बैंकों और केंद्र सरकार की अन्य सेवाओं में भर्ती के लिए छात्रों को प्रशिक्षित करने के लिए राज्य के कालेजों में विशेष सरकारी केंद्र शुरू किए जाएंगे।' कोविड संकट से निपटने के लिए राज्य सरकार द्वारा की गई तैयारियों पर टिप्पणी करते हुए, सावंत ने कहा कि स्वास्थ्य प्रशासन कोरोना महामारी की तीसरी लहर से निपटने के लिए तैयार है। अगर तीसरी लहर गलती से भी आती है, तो हमने पहले ही इससे निपटने के लिए एक व्यवस्था स्थापित कर ली है।'

उन्होंने आगे बताया कि आर्थिक रूप से पिछड़े वर्गों के उन परिवारों को दो लाख रुपये दिए जाएंगे, जिन्होंने महामारी के दौरान परिवार के मुखिया या परिवार का पालन पोषण करने वाले को खो दिया है। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि सात लाख व्यक्तियों को पहले ही कोविड वैक्सीन की पहली खुराक दी जा चुकी है और उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि 30 जुलाई तक गोवा में पहली खुराक का 100 प्रतिशत कवरेज पूरा हो जाएगा।

Edited By: Neel Rajput