नई दिल्ली, प्रेट्र: हुर्रियत के अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी का छोटा बेटा नसीम एनआइए के समन के बावजूद पेश नहीं हुआ। उसे लोधी रोड स्थित एजेंसी के मुख्यालय में मंगलवार को पेश होना था। नसीम शेर-ए-कश्मीर कृषि विश्वविद्यालय में प्रोफेसर है।

एजेंसी को संदेह है कि वह आतंकी फंडिंग के काम में लिप्त है। इससे पहले दो बार एनआइए ने उससे पूछताछ की है। उसके बड़े भाई नईम से भी कई बार पूछताछ की जा चुकी है। नईम पेशे से चिकित्सक है और पहले वह पाकिस्तान में रहा करता था। एनआइए ने गिलानी के दामाद अलताफ अहमद शाह पर भी शिकंजा कसा है। मई माह के दौरान जम्मू-कश्मीर में आतंकी फंडिंग को लेकर एजेंसी ने कई केस दर्ज किए थे।

सात अलगाववादी नेताओं को गिरफ्तार भी किया जा चुका है। सात नवंबर को एजेंसी ने 36.5 करोड़ रुपये जब्त भी किए थे। इस मामले में नौ लोगों को गिरफ्तार भी किया था। इनमें से तीन कश्मीर से हैं जबकि दो दिल्ली, तीन महाराष्ट्र और एक व्यक्ति उत्तर प्रदेश से है।

यह भी पढ़ेंः पाक की मंशा पर विदेश मंत्रालय का सवाल, क्‍यों नहीं लौटाए जाधव की पत्‍नी के जूते

यह भी पढ़ेंः दबंगों ने श्मशान भूमि पर किया था कब्जा, पुलिस ने मुक्त कराई जमीन

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021