नईदुनिया (इंदौर)। भैया! मैं गरीब हूं। मेरे पास कुछ काम भी नहीं है। गीता से शादी करवा दो तो सरकार से गाड़ी-बंगला मिल जाएगा। मेरा कुछ भला हो जाएगा तो गरीब की दुआ लगेगी। यह चिट्ठी एक बेरोजगार युवक ने पाकिस्तान से आई मूक-बधिर गीता से शादी करने के लिए लिखी है। गीता के लिए दूल्हा तलाशने की खबर देशभर में फैलने के बाद कई तलाकशुदा, सामान्य और बुजुर्ग भी शादी का प्रस्ताव भेज रहे हैं।

गीता के लिए आ चुके 20 बायोडाटा

गौरतलब है कि गीता दो साल से इंदौर के मूक-बधिर संस्थान में रह रही है। दो साल से उसके माता-पिता की तलाश की जा रही थी, लेकिन वह अभी तक नहीं मिले। इससे गीता निराश है और डिप्रेशन में भी जाने लगी है। उसका पढ़ाई में भी मन नहीं लग रहा था। यह बात विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को पता चली तो उन्होंने उसके लिए दूल्हा तलाशने के आदेश दिए। इंदौर में आनंद मूक-बधिर सोसायटी के ज्ञानेंद्र पुरोहित ने फेसबुक पर दूल्हे की तलाश शुरू की। अब तक करीब 20 लड़कों के बायोडाटा आ चुके हैं। इनमें दो को छोड़ सभी मूक-बधिर हैं। ये बायोडाटा विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को भेज दिए गए हैं।

उत्तर प्रदेश के सामान्य युवक ने लिखी है चिट्ठी

मूक-बधिर युवाओं के साथ-साथ सामान्य युवकों को भी गीता के सरकार की बेटी होने से फायदा दिखने लगा है। उत्तर प्रदेश के सामान्य युवक ने बेरोजगारी का हवाला देकर गीता से शादी का प्रस्ताव दिया। वहीं हरियाणा से एक तलाकशुदा ने भी शादी की इच्छा जताई है। इनके अलावा चार-पांच अधेड़ और बुजुर्गो ने भी प्रस्ताव भेजे हैं। पुरोहित का कहना है कि हमने तलाकशुदा और बुजुर्गो के प्रस्ताव अलग कर दिए हैं। इन्हें विदेश मंत्रालय नहीं भेजेंगे।

गीता खुद चुनेगी जीवनसाथी

माना जा रहा है कि गीता स्वयंवर के जरिये जीवनसाथी चुनेगी। विदेश मंत्री द्वारा चयनित युवाओं के बायोडाटा गीता को भेजे जाएंगे। गीता उनमें से अपनी पसंद बताएगी। शासन द्वारा कहा गया है कि गीता की पसंद अंतिम होगी।

Posted By: Srishti Verma