नई दिल्ली (जेएनएन)। शोधकर्ताओं ने मोटापे की वजह का पता लगा लिया है। उन्होंने मोटापे से संबंधित जीन में होने वाले बदलाव की पहचान की है। इस खोज से मोटापे का नया उपचार विकसित हो सकता है। शोधकर्ताओं का कहना है कि मोटापे की आनुवंशिक वजहों और स्थितियों पर शोध से पीड़ित लोगों के इलाज का रास्ता प्रशस्त हो सकता है।

 

फिलहाल ऐसी कई दवाएं हैं या उनका परीक्षण चल रहा है जिससे इसका निदान किया जा सकता है। मोटापे की वजह यानी जीन में खास बदलावों की जानकारी होने से वैज्ञानिक ऐसी दवाएं बना सकते हैं जिससे खासतौर पर इनको साधा जा सके। 

 

ब्रिटेन के इंपीरियल कॉलेज लंदन के शोधकर्ताओं ने इसी पर ध्यान दिया। उन्होंने पाकिस्तान में मोटापे से पीड़ित बच्चों पर अध्ययन किया। पूर्व अध्ययन में इन बच्चों के 30 फीसद मामलों के आनुवांशिक जुड़ाव की पहचान की गई थी। शोधकर्ताओं ने पाया कि मोटापे से संबंधित जीन एडेनीलेट साइक्लेज 3 (एडीसीवाई3) में जब परिवर्तन होता है तो यह ठीक से काम करना बंद कर देता है। 

 

यह भी पढ़ें: किसानों ने कंपनी बना कर की बिचौलियों की छुट्टी

 

Posted By: Sanjay Pokhriyal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप