रायपुर, नई दुनिया। छत्तीसगढ़ की रायपुर सिटी पुलिस को एक बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। देशभर में अलग-अलग फर्जी वेबसाइट बनाकर हजारों लोगों से करोड़ों की ठगी करने वाला अंतर्राज्यीय गिरोह के मास्टर माइंड को गिरफ्तार किया गया है। आरोपी ने गोबरा नवापारा के एक व्यक्ति को देना बैंक के ग्राहक सेवा केंद्र का फ्रेंचाइजी दिलाने के नाम पर अलग-अलग खातों में 1 लाख 23 हजार 8 सौ रुपए जमा करवा लिए थे। ऐसे ही कई लोगों को आरोपी ने ठगी का शिकार बनाया। इसके बाद ठगी का शिकार हुए व्यक्ति ने पुलिस में शिकायत की। पुलिस ने तहकिकात में पाया कि सरकारी वेबसाइट का नाम का दुरूपयोग करते हुए आरोपी ने न केवल गोबरा नवापारा के शख्स को ठगा, बल्कि देश भर में कई लोगों को इस तरह चूना लगाते हुए करोड़ों की ठगी को अंजाम दिया है।

इस तरह करते थे ठगी

मामले का खुलासा करते हुए एसपी अमरेश मिश्रा ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी धर्मेंद्र कुमार फर्जी वेब साइट के माध्यम से देशभर के कई राज्यों के हजारों लोगों से अब तक करोड़ों रुपए की ठगी कर चुका है। एक वेबसाइट को 3 माह चलाने के बाद उसका डोमेन नेम बदल देते थे। जिससे की उस पेज का पता ही नहीं चल पाता था। आरोपियों ने अपनी फर्जी वेबसाइट को गूगल सर्च के इस तरह से रजिस्टर्ड किया है, कि ग्राहक सेवा केंद्र सर्च करने पर सबसे पहले इनकी ही फर्जी वेबसाइट सामने आती है। इसी का फायदा उठाकर आरोपियों ने ठगी की।

गाजियाबाद से हुआ गिरफ्तार

जब ठगी का शिकार हुए व्यक्ति को बैंक के सेवा केंद्र की फेंचाइजी नहीं मिली तब उसे पता चला कि वह ठगी का शिकार हो गया है। जिसके बाद उसने इस ठगी होने की बात को पुलिस थाने में दर्ज करवाया था। पुलिस के अनुसार मास्टर माइंड धर्मेंद्र कुमार बिहार का रहने वाला है। जिसे गाजियाबाद से गिरफ्तार किया गया है। आरोपी के पास से 1 लैपटॉप, 4 मोबाइल, 8 सिम, 3 एटीएम कार्ड, नगदी 39 हजार 700 रुपये और मल्टी बैंक सीएसपी के नाम के दस्तावेज जब्त किए गए हैं।

एक दर्जन से अधिक फर्जी बैंक खाते

आरोपी ने लोगों को झांसे में लेने के लिए अपनी फर्जी वेबसाइट www.ncvtcspgov.in पर सरकारी वेबसाइट का लिंक शो किया था। इनता ही नहीं पैसे ट्रांसफर करने के लिए दर्जन भर से अधिक फर्जी बैंक खाते खोल रखे थे। एसपी ने कहा कि इस तरह का साइबर ठगी का यह काफी अलग मामला है। जिसके झांसे में लोग बहुत ही आसानी से आ गए।

एसपी ने की अपील, सतर्क रहें लोग

एसपी ने लोगों से भी अपील की है कि इस तरह के झांसे में ना आएं। ऐसा कोई भी मामला आए तो पुलिस की मदद लें। फिलहाल पुलिस ने आरोपी के विरुद्ध गोबरा नवापारा थाने में अपराध दर्ज कर गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। साथ ही पुलिस इसके सहयोगियों की भी तलश कर रही है।

Posted By: Ravindra Pratap Sing