जबलपुर, राज्‍य ब्‍यूरो। मध्य प्रदेश के जबलपुर शहर में कोरोना वायरस के चलते लागू कर्फ्यू के दौरान भानतलैया क्षेत्र में कांग्रेस के निवर्तमान पार्षद धर्मेद्र सोनकर की घर के आंगन में गोली मारकर हत्या कर दी गई। बताया गया है कि क्षेत्र में जुआ संचालित नहीं करने देने को लेकर सोनकर का आरोपितों से विवाद चल रहा था।

शहर के भानतलैया क्षेत्र में तनाव, भारी पुलिस बल तैनात

पूर्व पार्षद धर्मेद्र सोनकर गुरुवार को अपने घर के आंगन में बैठकर खाना खा रहे थे, तभी वहां बाइक से आरोपित मोनू सोनकर अपने साथी के साथ आया और ताबड़तोड़ गोलियां दागीं। मोनू ने लगभग आठ फायर किए, जिसमें से एक गोली धर्मेद्र के सीने और दो पेट में लगीं। घायल धर्मेद्र ने गैरेज की ओर भागने की कोशिश की, लेकिन वह उसके पहले ही बेहोश होकर जमीन पर गिर गए। इसी दौरान धर्मेद्र का कर्मचारी चम्मी सोनकर और एक अन्य कर्मचारी आरोपित मोनू का पीछा करने लगे तो उसने कट्टे से चिम्मी पर भी फायर कर दिया। भागते वक्त तलैया के पास पानी भरने के लिए खड़े अनिकेत गोटिया (16) को भी गोली मार दी। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उधर, सूचना मिलते ही एएसपी अमित कुमार, एएसपी क्राइम राय सिंह नरवरिया, एएसपी शहर अगम जैन, सीएसपी रांझी धर्मेश दीक्षित और सीएसपी कैंट अखिल वर्मा टीम के साथ मौके पर पहुंचे और स्थिति संभाली। क्षेत्र में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

कई वर्षों से थी रंजिश

पुलिस के अनुसार पूर्व पार्षद धर्मेद्र की बीते कई वर्षों से आरोपित मोनू सोनकर व गज्जू से रंजिश चल रही थी। धर्मेद्र ने मोनू को क्षेत्र में जुआ खिलवाने से मना किया था। इसी को लेकर गुरुवार को धर्मेद्र की हत्या की गई। कुछ देर बाद पुलिस ने आरोपित मोनू सोनकर को गिरफ्तार कर लिया। वह नशे में था। उसने पूर्व में एक मंदिर के पुजारी मोनी बाबा की भी हत्या की थी।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस