अहमदाबाद [जासं]। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की भाजपा में वापसी के बाद भाजपा का केंद्रीय आलाकमान गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री सुरेश मेहता की भी वापसी के प्रयास कर रहा है। मेहता पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मिल चुके हैं लेकिन अभी तक कोई फैसला नहीं किया है। चर्चा है कि भाजपा केशुभाई पटेल को भी वापस पार्टी में लाने पर विचार कर रही है।

गुजरात में मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी से नाराज होकर एक-एक कर भाजपा छोड़ने वाले वरिष्ठ नेताओं को भाजपा वापस पार्टी में शामिल करना चाहती है। आगामी लोकसभा चुनाव में दो सौ से अधिक सीटों पर जीत दर्ज करने को भाजपा उत्तर प्रदेश के बाद अब गुजरात व राजस्थान में पार्टी को मजबूत करने में जुट गई है। भाजपा के वरिष्ट नेता अरुण जेटली को यह काम सौंपा गया है, जेटली इससे पहले भी भाजपा से रुठे नेताओं से कई बार मुलाकात कर चुके हैं। पूर्व मुख्यमंत्री सुरेश मेहता ने बताया कि बीते दो तीन दिन में नई दिल्ली में उनकी कई भाजपा नेताओं से चर्चा हुई है लेकिन फिलहाल पार्टी में वापसी का कोई फैसला नहीं किया है। गौरतलब है कि वरिष्ठ नेता केशुभाई पटेल की गुजरात परिवर्तन पार्टी में उचित स्थान नहीं मिलने से सुरेश मेहता असहज हैं, मुख्यमंत्री मोदी की जीत की हैट्रिक लगाने के बाद अब गुजरात में भाजपा के खिलाफ किसी भी पार्टी का भविष्य नजर नहीं आता है लिहाजा पार्टी के कई पुराने नेता अब वापसी को तैयार भी हैं। पार्टी वरिष्ठ नेता केशुभाई को भी पुन: भाजपा में लाने का प्रयास करेगी लेकिन फिलहाल इस संबंध में कोई प्रयास शुरू नहीं किया गया है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप