नई दिल्‍ली, एजेंसी। 17th Lok Sabha का पहला सत्र छह जून से शुरू हो सकता है। सूत्रों ने बताया कि इसके छह से 15 जून तक चलने की संभावना है। इस सत्र की शुरुआत नवनिर्वाचित सदस्‍यों को शपथ ग्रहण से होगी। लोकसभा चुनाव 2019 के 23 मई यानी बीते गुरुवार को आए नतीजों में भाजपा ने अकेले अपने दम पर 303 सीटें हासिल की हैं। एनडीए के साथ उसकी सीटों का आंकड़ा 353 तक जा पहुंचा है। यह भी दिलचस्प है कि नरेंद्र मोदी अपनी दूसरी पारी का आगाज भी गुरुवार को ही करने जा रहे हैं।

इसके बाद लोकसभा स्पीकर और डिप्टी स्पीकर का चुनाव होगा। लोकसभा में यह परंपरा रही है कि अध्‍यक्ष के पद पर सत्ता पक्ष का सांसद और डिप्टी स्पीकर के पद विपक्षी दलों में से एक सांसद को चुना जाता है। बता दें कि 16वीं लोकसभा में अध्‍यक्ष भाजपा सांसद सुमित्रा महाजन थीं जबकि उपाध्‍यक्ष अन्‍नाद्रमुक के सांसद थम्बी दुरई थे। वहीं भाजपा संसदीय दल की शनिवार को हुई बैठक में नरेंद्र मोदी को नेता चुने जाने की औपचारिकता पूरी कर ली गई। 

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 30 मई को नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री पद की शपथ दिलाएंगे। इस दौरान उनके नए मंत्रिमंडल का भी शपथ ग्रहण होगा। राष्ट्रपति भवन में शपथ ग्रहण समारोह की तैयारियां तेज हो गई हैं। राष्ट्रपति भवन ने रविवार को आधिकारिक बयान जारी कर यह जानकारी दी। लोकसभा चुनाव में भारी बहुमत से सत्ता में लौटे मोदी की दूसरी पारी भाजपा की सियासत के लिहाज से ऐतिहासिक होगी। पंडित जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा गांधी के बाद मोदी तीसरे ऐसे प्रधानमंत्री होंगे जो लगातार दूसरे कार्यकाल के लिए पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में लौटे हैं। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप