नई दिल्ली (पीटीआई)। राष्ट्रीय विमान कंपनी एयर इंडिया का विमान पहली बार नई दिल्ली से सुबह छह बजे सीधे तेल अवीव के लिए रवाना हुआ। गुरुवार को विमान के उड़ान भरते ही भारत-इजरायल संबंधों में एक नया अध्याय जुड़ गया। इसके साथ ही सऊदी अरब द्वारा दशकों से लगा प्रतिबंध भी समाप्त हो गया। सऊदी अरब ने एयर इंडिया को अपना एयरस्पेस इस्तेमाल करने की इजाजत दी है। एयर इंडिया के विमान को तेल अवीव पहुंचने में कम समय लगेगा।

अब विमान 7.25 घंटे में भारत से इजरायल पहुंचेगा। दोनों देशों के बीच उड़ान भरने वाले इजरायल की राष्ट्रीय विमानन कंपनी एल अल के विमान के मुकाबले एयर इंडिया को अब 2.10 घंटे कम समय लगेगा। कई अरब और इस्लामिक देशों ने इजरायल को मान्यता नहीं दी है। यही कारण है कि ये देश वहां के लिए विमान सेवाओं को अपने एयरस्पेस का इस्तेमाल करने की इजाजत नहीं देते हैं। इजरायल पहुंचने के लिए एयर इंडिया का विमान ओमान, सऊदी अरब और जार्डन के ऊपर से गुजरेगा।

दिल्ली-तेल अवीव सीधी सेवा से दोनों देशों के बीच पर्यटन को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है। इसके साथ ही आपसी कूटनीतिक रिश्ता भी नए स्तर पर पहुंचेगा। विमान हर मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को उड़ान भरेगा। गुरुवार को एआइ 139 सुबह छह बजे रवाना हुआ, लेकिन 25 मार्च से ग्रीष्म कालीन समय संचालन में आने के बाद विमान रवाना होने का समय सुबह 4:50 होगा। इस मार्ग पर भारतीय सरकारी विमान कंपनी 256 सीटों वाला बोइंग 787 ड्रीमलाइनर संचालित करेगा। इजरायल के लिए सीधी उड़ान सेवा शुरू होने के मौके पर एयर इंडिया के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक प्रदीप खरोला एवं इजरायल के पर्यटन मंत्रालय के निदेशक हसन मादाह ने केक काटा।

 

Posted By: Kishor Joshi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस