जयपुर। मदरसे में पढ़ाई के नाम पर बच्चों को बेड़ियों में बांधकर यातनाएं देने का मामला सामने आया है। मदरसे के मौलवी अयूब खान के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया। यह घटना राजस्थान के अलवर जिले के रामगढ़ की है।

ग्रामीणों को शुक्रवार शाम रामगढ़ रेलवे स्टेशन के रास्ते में दो नाबालिग बच्चे बेड़ियों में जकड़े मिले। बेड़ियों में बंधे होने के बावजूद वो भाग रहे थे। उनकी इस हालत को देख लोगों ने उन्हें रोक लिया और मामले की जानकारी ली। बच्चे कुछ भी बताने से डर रहे थे।

ग्रामीणों ने मामले की सूचना स्थानीय पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों को थाने ले गई। इस मामले में मदरसे से गुड़ीसर (बाड़मेर) गांव निवासी मौलवी अयूब खां को पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया।

ये भी पढ़ें-तीन साल की बच्ची से दरिंदगी करने वाले को सजा-ए-मौत

रामगढ़ थानाध्यक्ष राकेश यादव ने बताया कि ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और दो बच्चों को बेड़ियों एवं ताले सहित थाने लेकर आई। मौलवी से पूछताछ जारी है। उन्होंने कहा कि सारे पहलुओं को ध्यान में रखकर मामले की जांच की जाएगी। पुलिस उपाधीक्षक हिमांशु शर्मा ने बताया कि जुवेनाइल जस्टिस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर जांच की जा रही है। दोनों बच्चों के नाम अलवर के नौगांवा निवासी मुशर्रफ एवं साहिल हैं।

बात न मानने पर देता था सजा

बच्चों ने बताया कि मौलवी ने मदरसे में दस बच्चों को इसी तरह से बेडियों में जकड़ रखा था। प्रारंभिक जांच में सामने आया कि मौलवी बच्चों को धर्म के नाम पर बरगलाने की कोशिश करता था और जो बच्चे ऐसा नहीं करते थे उन्हें वह बेडियों में बांधकर रखता था।

जीतेगा भारत हारेगा कोरोन

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस