नई दिल्ली [जागरण स्पेशल]। Free Fastag Toll Card: अगर आप अपनी गाड़ी लेकर टोल से गुजरते हैं, तो आपके लिए अगामी एक दिसंबर का दिन बेहद खास रहने वाला है। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने घोषणा की है कि 1 दिसंबर, 2019 से सभी वाहनों, निजी और वाणिज्यिक के लिए FASTag अनिवार्य हो जाएगा। जानकारी के अनुसार जिन वहानों में फास्टैग नहीं लगा होगा उनको टोल पर दोगुना भुगतान करना होगा। इसलिए जरुरी है कि आप अपने वाहन के लिए FASTag खरीद लें। हम आपको बताएंगे कि ये आपको कहां से मिलेगा और कैसे आप इसे एक्टिवेट कर सकते हैं। लेकिन, उससे पहले जानते हैं आखिर FASTags है क्या? 

क्या है FASTag

फास्टैग एक छोटा सा  इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है। ये ऐसा ही है जैसा की कोई क्रेडिट या डेबिट कार्ड है। हालांकि, ये आकार में  क्रेडिट कार्ड से आधा या उससे छोटा भी होता है। कार के आगे वाले शीशे पर इसे लगाया जाता है। इसमें एक चिप लगी होती है जिसके अंदर आपके वाहन से संबंधित सारी जानकारी मौजूद रहती है। जैसे ही आप टोल प्लाजा पर जाएंगे आपके वाहन से जुड़ी सारी जानकारी दर्ज हो जाएगी। टोल प्लाजा पर फास्टैग की सूचना एकत्र करने वाले उपकरण लगे होते हैं फास्टैग जैसे ही कैमरे का सामने आएगा। सारी सूचना इकट्ठा हो जाएगी। 

कैसे खरीदें और एक्टिवेट करें फास्टैग 

राष्ट्रीय राजमार्ग टोल प्लाजा पर 22 प्रमाणित बैंकों द्वारा प्वाइंट-ऑफ-सेल (पीओएस) जैसे विभिन्न माध्यम से FASTags जारी किए जाते हैं। साथ ही ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म जैसे अमेजन पर भी ये उपलब्ध हैं। बता दें कि पहली दिसंबर तक यह किसी भी एनएच के टोल प्लाजा से मुफ्त लिया जा सकता है। आपको बता दें कि यदि आप इसे ऑनलाइन ऑर्डर करते हैं तो आपको डिलिवरी चार्ज भी देना होगा।

एक्टीवेट करना के तरीकें

सेल्फ-एक्टीवेशन: FASTag 'बैंक-न्यूट्रल' है, अर्थात, जब आप POS टर्मिनल या ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म से इसे खरीदते हैं तो कोई भी बैंक FASTag को प्री-असाइन नहीं किया जाता है। ऑनलाइन FASTag DIY (Do-It-Yourself) की पर आधारित है, जहां आप 'My FASTag मोबाइल ऐप में वाहन के विवरण दर्ज करके इसे खुद से ही एक्टिवेट कर सकते हैं। एंड्रॉइड स्मार्टफोन उपयोगकर्ता Google Play Store से My FASTag ऐप डाउनलोड कर सकते हैं और iPhone यूजर्स Apple स्टोर से ऐप डाउनलोड कर सकते हैं।

मोबाइल ऐप से मिलेगी सारी जानकारी

इसके बाद, आपके पास माई फास्टैग मोबाइल ऐप का उपयोग करके अपने किसी मौजूदा बैंक खाते के साथ FASTag को जोड़ने की सुविधा है। NHAI (नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया) प्रीपेड वॉलेट की सुविधा My FASTag मोबाइल ऐप में भी उपलब्ध है, जहां आप पैसे डाल सकते हैं और अपने टोल शुल्क को सीधे बैंक खाते से कटवाने के बजाय प्रीपेड वॉलेट से भुगतान कर सकते हैं।

प्रमाणित बैंक शाखा में जाकर कराए एक्टिवेट

आप नीचे दी गई सूची में शामिल बैंक की निकटतम शाखा में जाकर FASTag खरीद भी सकते हैं और FASTag को अपने मौजूदा बैंक खाते से जोड़ सकते हैं।

एक्टिवेशन के समय देने होंगे ये दस्तावेज

एक्टिवेशन के समय, आपको बैंक की केवाईसी पॉलिसी के अनुसार केवाईसी (नो योर कस्टमर) दस्तावेज जमा करने की आवश्यकता होगी। केवाईसी  के अलावा, आपको FASTag के लिए आवेदन के साथ वाहन का पंजीकरण प्रमाणपत्र (RC) भी बैंक में जमा करना होगा।

Source: IHML

कैसे रिचार्ज करें फास्टैग 

यदि FASTag आपके बैंक खाते से पहले से जुड़ा हुआ है, तो प्रीपेड वॉलेट में अलग से पैसे जमा करने की आवश्यकता नहीं है। आपको केवल यह सुनिश्चित करने की जरुरत है कि टाल भुगतान के लिए आपके FASTag जुड़े बैंक खाते में पर्याप्त पैसे हो। हालांकि, अगर आपने FASTag को प्रीपेड वॉलेट (NHAI प्रीपेड वॉलेट) से लिंक किया है, तो इसे विभिन्न माध्यमों जैसे चेक के माध्यम से या UPI, डेबिट कार्ड ,क्रेडिट कार्ड, NEFT,नेट बैंकिंग के जरिए रिचार्ज किया जा सकता है। साथ ही, अलग-अलग माध्यमों से FASTag खाते को रिचार्ज करते समय अतिरिक्त शुल्क लगाया जाएगा।

सीमित KYC FASTag खाताधारक के लिए:  FASTag प्रीपेड वॉलेट में 20,000 रुपये से अधिक रुपये नहीं रख सकते हैं। महीने में दोबारा पैसे डालने की सीमा भी 20,000 रुपये रखी गई है।

पूर्ण केवाईसी FASTag खाता धारक के लिए: इस प्रकार के FASTag खाते में उनके FASTag प्री-वॉलेट में 1 लाख रुपये से अधिक रुपये नहीं जमा कर सकते हैं। भारतीय राजमार्ग प्रबंधन कंपनी लिमिटेड (IHMCL) की वेबसाइट के अनुसार, इस खाते में कोई मासिक दोबारा पैसे जमा नहीं कर सकते हैं। 

फास्टैग के लिए देने होगा कितना पैसा

प्रमाणित बैंकों प्रत्येक FASTag के लिए अधिकतम 100 रुपये का शुल्क ले सकते हैं, जो कि नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) द्वारा तय किया गया है। हालांकि, प्रभार जारी करने वाले वास्तविक टैग बैंक द्वारा तय किए गए हैं और अलग-अलग बैंकों में इसके चार्ज अलग-अलग हो सकते हैं। 

उदारण के तौर पर एचडीएफसी बैंक 400 रुपये में फास्टैग दे रहा हैं। जिसमें  100 रुपये टैग जारी करने की फीस, 200 रुपये रिफंडेबल सिक्योरिटी डिपोजिट, 100 रुपये वॉलेट बनाते समय वॉलेट में पहली रिचार्ज राशि के तौर पर ले रहे हैं। 

इन बातों का रखें ध्यान रियायत का मिलेगा लाभ

आप दो या दो से अधिक वाहनों के साथ एक FASTag का उपयोग नहीं कर सकते, आपको दो वाहनों के लिए दो अलग FASTags खरीदने होंगे।

IHMCL वेबसाइट के अनुसार, यदि आप टोल प्लाजा से 10 किमी की सीमा के भीतर रहते हैं, तो आप अपने FASTag के माध्यम से भुगतान किए जाने वाले टोल पर रियायत का लाभ उठा सकते हैं। ऐसे में, आपको आवश्यक दस्तावेजों को जमा करना होगा। जैसे की अपना निवास स्थान, निकटतम पीओएस स्थान जो यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपका आवासीय पता किसी विशेष टोल प्लाजा के 10 किमी के भीतर है। एक बार पता सत्यापित होने के बाद, आप अपने वाहन को सौंपे गए फास्टैग के माध्यम से भुगतान किए गए टोल पर रियायत का लाभ उठा सकते हैं। 

पढ़िए- विधायक अदिति सिंह की शादी की Inside story, यूपी मायका तो पंजाब बना ससुराल

Posted By: Ayushi Tyagi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप