गुना, राज्य ब्यूरो। औद्योगिक क्षेत्र में शनिवार की देर शाम जिला प्रशासन की टीम ने छापामार कार्रवाई की। इस दौरान सामने आया कि दुल्हन ब्रांड से आटा बेचने वाला फैक्ट्री मालिक सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के गेहूं से आटा बनाकर बेच रहा है, जब स्टॉक रजिस्टर अफसरों ने मालिक घनश्याम साहू से मांगा तो वह बगले झांकने लगा। सबसे अहम बात तो यह है कि फैक्ट्री में चावल भी बड़ी मात्रा में रखा हुआ था, लेकिन वहां उपस्थित कर्मचारी जवाब नहीं दे पाए।

मिलावटखोर फैक्ट्री मालिक के खिलाफ प्रशासन ने नहीं की कार्रवाई

कलेक्टर इस मामले की भी जांच कर रहे हैं कि कितने साल से यह आटा फैक्ट्री चल रही है, लेकिन मिलावटखोर मालिक के खिलाफ खाद्य एवं औषधि प्रशासन ने कार्रवाई क्यों नहीं की है। अगर खाद्य औषधि विभाग के लोग दोषी पाए जाते हैं, तो उनको निलंबित किया जाएगा।

साहू फैक्ट्री पर हुई छापामार कार्रवाई, 40 क्विंटल गेहूं मिला 

शनिवार की देर शाम तक साहू फैक्ट्री संचालक घनश्याम के यहां छापामार कार्रवाई की गई। यहां 40 ¨क्वटल गेहूं मिला है। इस दौरान मालिक ने रसूखदार लोगों को फोन लगाए, लेकिन नायब तहसीलदार रमाशंकर सिंह ने कहा कि आटा और गेहूं के दो सैंपल लिए गए हैं, दोषी पाए जाने के बाद बड़ी कार्रवाई कलेक्टर द्वारा की जाएगी।

कृषि उपज मंडी से मांगी जानकारी

कलेक्टर कुमार पुरुुषोत्तम ने कृषि उपज मंडी से यह जानकारी मांगी है कि फैक्ट्री मालिक के यहां ब़़डी मात्रा में गेहूं कैसे पहुंचा है। साथ ही टीम रविवार को मौके पर पहुंचकर इस मामले की जांच करेगी। उधर नायब तहसीलदार रमाशंकर सिंह का कहना है कि देर शाम चली इस कार्रवाई में कई चीजें सामने आई है, जिसकी रिपोर्ट कलेक्टर को सौंपी जाएगी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021