अहमदाबाद [शत्रुघ्न शर्मा]। इंडियन मुजाहिदीन का आतंकी यासीन भटकल अहमदाबाद में जुलाई 2008 में हुए बम धमाकों का मुख्य सूत्रधार था। वहीं, धमाकों के लिए भरूच से विस्फोटक लाया था। बाद में उसने अपने साथी असदुल्ला के साथ मिलकर धमाकों को अंजाम दिया।

अहमदाबाद अपराध शाखा के संयुक्त पुलिस आयुक्त एके शर्मा ने बताया कि यासीन व असदुल्ला नारोल के मोहम्मदीद सोसायटी और दाणीलीमड़ा में आकर रुके। यासीन ने धमाकों के लिए भरुच के पास शेरपुरा गांव से विस्फोटक जुटाया, फिर कार, बाइक व साइकिल में फिट करने के बाद अहमदाबाद-सूरत में विस्फोट किए। धमाकों की साजिश कितनी फुल पु्रफ थी इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि दो बड़े धमाकों के बाद तीसरा विस्फोट अहमदाबाद के सिविल अस्पताल के ट्रामा सेंटर के बाहर किया। धमाका उस वक्त हुआ जब प्रदेश के मंत्री प्रदीप सिंह जाड़ेजा घायलों को लेकर यहां पहुंचे थे। हालांकि जाडेजा तो धमाके में बाल बाल बच गए लेकिन अस्पताल परिसर में साइकिल चला रहे दो बच्चे काल का ग्रास बन गए। शर्मा ने कहा, गुजरात पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए आतंकी अबु बशर और और हाफिज बशर ने भी बम धमाकों में यासीन व असदुल्ला का हाथ होने की जानकारी दी थी।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर