नई दिल्ली, एजेंसियां। मोदी सरकार ने पूर्वोत्तर भारत को शेष भारत से जोड़ने के लिए विकास कार्यों को तेज कर दिया है। इसी कड़ी में सोमवार को केंद्रीय नागरिक उड्डयन ज्योतिरादित्य सिंधिया और केंद्रीय नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जनरल डा वीके सिंह (सेवानिवृत्त) ने मंत्रालय के सचिव राजीव बंसल के साथ एक एलायंस एयर की उड़ान को हरी झंडी दिखाई, जो कोलकाता को गुवाहाटी, आइजोल और शिलांग सहित पूर्वोत्तर शहरों से जोड़ती है।

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने सोमवार को यह जानकारी दी। आज से जिन मार्गों पर परिचालन शुरू हो रहा है, उनमें कोलकाता-गुवाहाटी, गुवाहाटी-आइजोल, आइजोल-शिलांग, शिलांग-आइजोल, आइजोल-गुवाहाटी और गुवाहाटी-कोलकाता शामिल हैं। मंत्रालय के बयान में कहा गया है कि एलायंस एयर की उड़ान सप्ताह में चार दिन कोलकाता-गुवाहाटी-आइजोल-शिलांग रूट पर चलेगी। एलायंस एयर इस उड़ान का संचालन अपने एटीआर-72 विमान से करेगी। आज हम चार शहरों को एक उड़ान से जोड़कर पूरे पूर्वोत्तर भारत में निर्बाध संपर्क स्थापित कर रहे हैं। 

केंद्रीय नागरिक उड्डयन ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट कर लिखा कि कोलकाता-गुवाहाटी-आइजवाल-शिलांग के बीच एलायंस एयर की छह नई विमान सेवाएं कल से शुरू होने जा रही है, जो सप्ताह में 4 दिन की आवर्ती से चलेंगी। आज उद्धघाटन समारोह में मेरे साथी जनरल वीके सिंह, मिजोरम के स्वास्थ्य,शिक्षा और वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री डा . आर. ललथंगलियाना, मिजोरम के खेल, पर्यटन व आई सी टी मंत्री राबर्ट रोमाविया रोयते व अन्य गणमान्य सदस्यों के साथ सम्मिलित हुआ। उड़ान योजना के तहत देश के 387 अवार्ड किये गए रूट में, 100 रुट नार्थ-ईस्ट में है। पिछले 7 सालों में इस क्षेत्र में हवाईअड्डों की संख्या 6 से 15 हो गयी है। नार्थ-ईस्ट इलाके में हवाई संपर्क की वृद्धि, पर्यटन विकास और उससे आने वाला आर्थिक विकास, सरकार की बड़ी प्राथमिकताओं में से एक है।

नागरिक उड्डयन ने कहा कि उद्घाटन उड़ान के दौरान श्रीलंका के कोलंबो से 125 गणमान्य व्यक्तियों और बौद्ध भिक्षुओं को लेकर हवाई अड्डे पर उतरेगी, जो दुनिया भर के बौद्धों को भगवान बुद्ध के महापरिनिर्वाण स्थल की यात्रा करने की सुविधा पर प्रकाश डालेगी।

Edited By: Arun Kumar Singh