जागरण संवाददाता, जयपुर। दुष्कर्म के आरोपी राजस्थान के पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता बाबूलाल नागर का शनिवार को जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में मेडिकल टेस्ट हुआ। नागर के रक्त का नमूना लेने के साथ उनका पोटेंसी टेस्ट भी कराया गया। अब पीडि़ता के रक्त के नमूने को जांच के लिए विधि विज्ञान प्रयोगशाला (एफएसएल) भेजा जाएगा।

पढ़ें: अब कांग्रेस विधायक पर यौन शोषण का आरोप

गौरतलब है कि आरोप लगने के बाद से नागर एक सप्ताह तक भूमिगत थे। लेकिन सीआइडी-सीबी के दबाव के चलते उन्हें जांच के लिए उपस्थित होना पड़ा। नागर फिलहाल पुलिस निगरानी में हैं और उन्हें जांच पूरी होने तक शहर नहीं छोड़ने का नोटिस भी थमाया जा सकता है। पीडि़ता ने शीघ्र कार्रवाई न होने पर आत्महत्या की धमकी दी है।

गौरतलब है कि 17 सितंबर को इस्तगासे के जरिये तात्कालिक डेयरी मंत्री नागर के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज हुआ था और इसके बाद उन्हें मंत्री पद भी गंवाना पड़ा था।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस