नई दिल्‍ली, एएनआइ। खूब पसीना बहाने वाली एक्सरसाइज से सेहत को कई फायदे हैं, लेकिन किसी भी चीज की अति भारी पड़ सकती है। एक नए अध्ययन में दावा किया गया है कि बहुत ज्यादा एक्सरसाइज करने से अचानक हृदय गति रुकने का खतरा बढ़ सकता है। यह निष्कर्ष 300 से ज्यादा अध्ययनों की समीक्षा के आधारपर निकाला गया है।

अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन जर्नल में प्रकाशित इस अध्ययन के प्रमुख शोधकर्ता बेरी ए फ्रैंकलिन ने कहा, ‘एक्सरसाइज दवा है और इस पर कोई सवाल नहीं है। सामान्य और खूब शारीरिक गतिविधि हृदय की सेहत के लिए फायदेमंद होती है। लेकिन दवा की ही तरह एक्सरसाइज की भी कम या बहुत ज्यादा खुराक हमेशा बेहतर नहीं हो सकती और हृदय गति रुकने का कारण बन सकती है। यह खतरा खासतौर पर उन लोगों में हो सकता है, जो निष्क्रिय, अस्वस्थ या हृदय रोग से पीड़ित हों।’

युवावस्था में सेहत खराब रहने का दिमाग पर भी पड़ सकता है गंभीर असर

युवावस्था में सेहत का खराब रहना मस्तिष्क के विकास पर असर डाल सकता है। एक नए अध्ययन में पाया गया है कि 20 साल की उम्र में इस तरह की दिक्कतें होने पर बुढ़ापे में सोचने, याददाश्त और रक्त प्रवाह को नियंत्रित करने की मस्तिष्क की क्षमताओं पर असर पड़ सकता है। शोधकर्ताओं के अनुसार, धूमपान, उच्च कोलेस्ट्रॉल या हाई बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआइ) जैसी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के चलते बुढ़ापे में मस्तिष्क की कार्यक्षमता कमजोर हो सकती है।

अमेरिका की नॉर्थ-वेस्टर्न यूनिवर्सिटी फेनबर्ग स्कूल ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ता एफए सोरोंड ने कहा, ‘इन नतीजों से जाहिर होता है कि युवावस्था में भी लोगों को अपनी सेहत पर खास ध्यान देने की जरूरत है। हम जानते हैं कि उच्च रक्तचाप और उच्च रक्त ग्लूकोज का संबंध मस्तिष्क की रक्त वाहिनियों को होने वाले नुकसान और बुजुर्गों में सोचने की क्षमताओं की दिक्कतों से होता है। लेकिन इस अध्ययन से जाहिर होता है कि ये समस्याएं दशकों पहले ही शुरू हो सकती हैं। इसीलिए हमें अपने सेहत का ध्यान रखना चाहिए।’

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस