राज्य ब्यूरो, श्रीनगर। कश्मीर को दहलाने की साजिश में जुटे दो आतंकियों को सुरक्षाबलों ने शुक्रवार को उत्तरी कश्मीर के वारपोरा (सोपोर) में एक भीषण मुठभेड़ में मार गिराया। करीब 26 घंटे चले इस पूरे ऑपरेशन में सुरक्षाबलों को कोई नुकसान नहीं हुआ, लेकिन आतंकी ठिकाना बना मकान तबाह हो गया। इस दौरान आतंकी समर्थक ¨हसक तत्वों और सुरक्षाबलों के बीच हुई झड़प में चार लोग घायल हो गए।

प्रशासन ने इलाके में धारा 144 लागू करते हुए मोबाइल इंटरनेट सेवा भी बंद कर दी है। जानकारी के अनुसार, स्वचालित हथियारों से लैस आतंकियों का एक दल गुरुवार दोपहर को किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की रणनीति बनाने के लिए अपने किसी संपर्क सूत्र से मिलने वारपोरा मोहल्ले में आया था। इसकी सूचना मिलते ही गुरुवार दोपहर करीब साढ़े तीन बजे सेना की 22 आरआर के जवानों ने राज्य पुलिस और सीआरपीएफ के जवानों के साथ मिलकर पूरे इलाके की घेराबंदी करते हुए तलाशी अभियान चलाया।

इस दौरान रात करीब 11 बजे जब जवान एक मकान में दाखिल होने लगे तो उन्हें वहां के हालात कुछ संदिग्ध लगे। जवानों ने एहतियातन हवा में गोली चलाई। इस पर मकान में छिपे आतंकियों ने भी फायरिंग शुरू कर दी। सुरक्षाबलों ने तुरंत मकान को चारों ओर से घेर लिया। वहीं, आसपास के लोगों को घरों से निकाल कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाना शुरू कर दिया। बताया जाता है कि आतंकी ठिकाना बने मकान से भी चार-पांच लोगों को बाहर निकाला गया।

एसएसपी सोपोर अब्दुल क्यूम ने बताया कि हमने रातभर आतंकियों को घेरे रखा और किसी भी नागरिक क्षति से बचने के लिए हमने आतंकियों को आत्मसमर्पण करने का भी मौका दिया। लेकिन आतंकियों ने गोलियां चलानी शुरू कर दीं। सुबह करीब आठ बजे एक आतंकी मारा गया। दूसरा आतंकी वहीं साथ सटे एक अन्य मकान में घुसकर जवानों पर फाय¨रग करने लगा। हमारा पूरा प्रयास था कि उसे ¨जदा पकड़ा जाए और कोई नागरिक नुकसान न हो। इसलिए उसे मार गिराने में समय लगा।

वह दोपहर बाद मारा गया, लेकिन हमने पूरी एहतियात बरती और शाम करीब साढ़े पांच बजे अभियान को समाप्त किया। मारे गए दोनों आतंकियों के शव बरामद कर लिए गए हैं। उनके हथियार और अन्य सामान भी कब्जे में लिए गए हैं। लोगों से आग्रह है कि जब तक बम निरोधक दस्ता मुठभेड़स्थल का सुरक्षित घोषित नहीं करता, वह वहां जमा न हों।

Posted By: Vikas Jangra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप