बेंगलुरु, एएनआइ। इस वक्त पूरे देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिनों का लॉकडाउन लगाया हुआ है। ऐसे में सभी लोग अपने घरों में कैद हैं, लेकिन सड़कों पर जानवरों और पक्षियों का ही बोलबाला नजर आ रहा है। अब कर्नाटक  कोडागु जिले में रोड पर हाथी चलते हुई दिखाई दिए। इसकी जानकारी राज्य वन विभाग ने दी। वहीं केरल राज्य में लॉकडाउन के बीच तीन घंटे तक तालाब में गिरे हाथी का रेस्क्यू किया गया।

इसस पहले लॉक डाउन के बीच आधी रात हाथियों ने जंगलों से निकलकर हरकी पैड़ी समेत अन्य आबादी क्षेत्र में पहुंचकर उधम मचाना शुरू कर दिया। हालांकि, हाथियों ने किसी प्रकार के जान-माल का कोई नुकसान नहीं पहुंचाया, लेकिन हाथी के हरकी पैड़ी क्षेत्र में आने से लोगों में अफरा-तफरी मच गई, जिससे एक पुरोहित विद्युत पोल से टकराकर घायल हो गया। 

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए शहर में इन दिनों लॉक डाउन लगा हुआ है। जिससे दोपहर एक बजे के बाद खरीदारी की छूट समाप्त होने के बाद शहर के बाजारों में सन्नाटा छा जाता है। जिसके चलते बुधवार की रात करीब एक बजे राजाजी टाइगर रिजर्व के जंगल से बिल्वकेश्वर कॉलोनी के पास से हाथी निकलकर बाजारों की तरफ रुख करने लगे। जिसमें एक हाथी हरिद्वार-लक्सर रेलवे लाइन से होता हुआ चंद्राचार्य चौक, भगत सिंह चौक से आगे निकलते हुए ज्वालापुर रेलवे स्टेशन की तरफ बढ़ने लगा।

हाथी को देखककर लोगों के होश उड़ गए, लेकिन सूचना मिलने पर हरिद्वार रेंजर दिनेश प्रसाद नौड़ियाल ने टीम के साथ मौके पर पहुंचकर करीब आधा घंटा के बाद काफी मशक्कत कर वापस जंगल में खदेड़ दिया, लेकिन इसके बाद तड़के चार बजे एक हाथी फिर से निकलर हरकी पैड़ी क्षेत्र के बाजारों में पहुंच गया।

इसके अलावा मध्य प्रदेश के अनूपपुर जिले के एक गांव में जंगली हाथियों के झुंड ने दो महिलाओं सहित तीन लोगों को मार डाला। यह घटना बीते दिनों हुई। इस दौरान जब 10 से 12 जंगली हाथियों का झुंड यहां से लगभग 80 किलोमीटर दूर पुरब गांव के बाहर खेतों में घुस गए। पुष्पराजगढ़ उप-मंडल के मजिस्ट्रेट विजय देवरिया ने इसकी जानकारी दी।

Posted By: Pooja Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस