रायसेन, राज्‍य ब्‍यूरो। बीमा पॉलिसी के एक करोड़ रुपये हड़पने के लिए विदिशा निवासी 35 वर्षीय धीरज किरार ने अपने छोटे भाई 32 वर्षीय अखिलेश किरार की अपनी भांजी के साथ मिलकर हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपित धीरज और उसकी 23 वर्षीय भानजी शैलजा किरार को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। भांजी शैलजा बीमा राशि मिलने के बाद मुंबई जाकर अभिनेत्री बनना चाहती थी, इसलिए उसने छोटे मामा की हत्या में बड़े मामा का साथ दिया।

बड़े भाई ने भांजी के साथ हत्या को दिया अंजाम

एसपी मोनिका शुक्ला ने बताया कि 9 जनवरी को चिकलोद के बनछोड़ के जंगल में शव मिला था, जिसकी शिनाख्त विदिशा निवासी अखिलेश किरार के रूप में हुई थी। उन्होंने बताया जब मृतक के परिजनों से पूछताछ की गई तो बड़े भाई धीरज ने छोटे भाई अखिलेश की हत्या करना स्वीकार किया। एसपी के मुताबिक अखिलेश ने निजी बीमा कंपनी से अपना एक करोड़ रुपये का जीवन बीमा कराया था।

बीमा पॉलिसी की राशि हड़पने के उद्देश्य से धीरज ने अपनी भांजी शैलजा के साथ मिलकर अखिलेश को जान से मारने की साजिश रची। 9 जनवरी को तड़के 4:30 बजे अखिलेश को भोपाल चलने के बहाने दोनों कार से विदिशा से रायसेन जिला के चिकलोद बनछोड़ के जंगल में ले गए और मूसल और बांट से सिर कुचलकर हत्या कर दी। इसके बाद शव को जंगल में और कपड़े, मूसल व बांट को नदी में फेंक दिया। 

भांजी मुंबई जाकर अभिनय के क्षेत्र में करियर बनाना चाहती थी

एसपी ने बताया कि भांजी शैलजा ने अखिलेश की हत्या में इसलिए साथ दिया कि वह बीमा पॉलिसी के रुपये मिलने के बाद मुंबई जाकर अभिनय क्षेत्र में करियर बनाना चाहती थी। मृतक अखिलेश अविवाहित था, जबकि आरोपित बड़े भाई धीरज के दो छोटे बच्चे हैं। धीरज के साथ अखिलेश डेयरी का कारोबार करता था। आरोपित बड़े भाई धीरज ने एमबीए तक शिक्षा प्राप्त की है, जबकि मृतक छोटा भाई अखिलेश स्नातक था।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021