जम्मू, पीटीआइ। जम्मू कश्मीर में भूकंप के झटके महसूस किए गए। भूकंप की तीव्रता 5.4 व भूकंप का केंद्र गुलाम कश्मीर (POK) बताया जा रहा है। सोमवार रात आए भूंकप से राज्य में किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है। 

जानकारी के मुताबिक भूकंप की तीव्रता काफी ज्यादा थी और झटके भी काफी देर तक महसूस किए गए। गुलाम कश्मीर में भूकंप के झटके काफी तेजी से महसूस किए गए। इसके अलावा कश्मीर के बारामूला समेत कई अन्य इलाकों में भी भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। 

बता दें कि कश्मीर में बीते 10 दिन में दूसरी बार भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। इससे पहले 20 दिसंबर को पूरे उत्तर भारत में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए थे। तब भूकंप की तीव्रता 6.8 के करीब मापी गई थी।

वहीं, इससे पहले 13 दिसंबर को उत्तराखंड में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। चमोली जिले में भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर पैमाने पर इस भूकंप की तीव्रता 4.4 मापी गई थी। भूकंप का केंद्र जोशीमठ के पास 14 किलोमीटर की गहराई में था। इस भूकंप का असर चमोली जिले से सटे रुद्रप्रयाग और पौड़ी में भी महसूस किया गया था।

भूकंप आने पर इस तरह करें बचाव

ग्लोबल एकेडमी ऑफ पब्लिक सेफ्टी एंड हैबिटेट मैनेजमेंट के निदेशक सौरभ गौतम के अनुसार भूकंप से बचने के लिए यह उपाय अपनाएं। अपने सिर को किसी भी चीज से ढक लें। कुछ नहीं है तो अपने हाथ से ही सिर को ढके ताकि गंभीर चोट न आए। निचले फ्लोर पर हैं तो सिर को ढककर बाहर मैदान में आए। अगर ऊंची इमारतों में हैं तो सुरक्षित स्थान जैसे कोने, चौखट, या किसी मजबूत मेज या तख्त के नीचे सिर को ढकते हुए वहां पहुंचे और झटकों के रुकने का इंतजार करें। सीढि़यों से नीचे आएं और खुले मैदान की तरफ जाएं। झटके समाप्त होने पर खुले मैदान में आने के बाद बिल्डिंग, पेड़, खंभे और बिजली के तार से दूर रहें। पास की बिल्डिंग से और दूर रहें।

 

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस