नई दिल्ली, एएनआइ। देश में गुरुवार को एक के बाद एक तीन राज्यों में भूकंप आया है। जानकारी के अनुसार हिमाचल प्रदेश के बाद अब गुजरात और असम में भूकंप आया है। हालांकि, इससे अभी तक किसी तरह की नुकसान की खबर अब तक नहीं आई है। समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के अनुसार हिमाचल के ऊना में स्थानीय समयानुसार आज सुबह चार बजकर 47 पर भूकंप के इटके महसूस किए गए। भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल 2.3 पर रही।  

नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के अनुसार गुजरात के राजकोट में स्थानीय समयानुसार आज सुबह 7 बजकर 40 मिनट पर भूकंप आया। भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 4.5 रही। वहीं असम के करीमगंज में आज सुबह 7 बजकर 57 मिनट पर भूकंप आया। रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 4.1 रही।  

छह जुलाई को गुजरात में पांच बार हिली धरती

इससे पहले गुजरात में छह जुलाई को भूंकप के झटके महसूस हुए थे। रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 4.2 थी।  इसका केंद्र कच्छ जिले के भचाऊ से 14 किलोमीटर दूर था। इससे पहले इसी दिन दोपहर के बाद 1:50 से 4:32 बजे के बीच 1.8, 1.6, 1.7 व 2.1 तीव्रता वाले भूकंप के चार झटके आ चुके थे। 

क्यों आता है भूकंप

कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी के बीच लगातार देश और दुनिया से भूकंप आने की खबरें सामने आ रही हैं। ऐसे में यह जानना काफी आवश्यक है आखिर भूंकप क्यों आता है? गौरतलब है कि धरती मुख्य तौर पर चार परतों से बनी है। ये परत इनर कोर, आउटर कोर, मेटल और क्रस्ट हैं। इनमें से ऊपरी परत क्रस्ट है, यहां आपस में दर्जनों प्लेट्स जुड़ी हुई होती हैं। ये प्लेट्स हिलती डुलती हैं। थोड़ा बहुत हिलने पर कुछ महसूस नहीं होता, लेकिन ज्यादा हिलने पर असर पता चलता है। इसको भूकंप कहते हैं। प्लेट्स जहां जुड़ी होती हैं, वहां टकराव अधिक होने के कारण भूकंप ज्यादा आते हैं।

 

 

Posted By: Tanisk

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस