नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर देश में नशे के खिलाफ एक बड़ी मुहिम शुरू होगी, जो सात महीनों तक चलेगी। यह नशे से सबसे ज्यादा प्रभावित देश के 272 जिलों में एक साथ शुरू होगी। इस दौरान ऐसे लोगों की पहचान कर उन्हें उपचार और इसे छोड़ने के लिए प्रेरित किया जाएगा। साथ ही लोगों को इससे होने वाले नुकसान को लेकर जागरूक भी किया जाएगा। इन जिलों की पहचान एम्स की मदद से पिछले साल किए गए सर्वेक्षण के जरिए की गई थी। तभी से इन जिलों में मुहिम शुरु की योजना बन रही थी।

केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत ने शुक्रवार को अधिकारियों के साथ चर्चा में दी। साथ ही बताया कि नशा मुक्त भारत अभियान की मुहिम 15 अगस्त से शुरू होकर 31 मार्च 2021 तक चलेगी। केंद्रीय मंत्री के साथ इस बैठक में नशे के क्षेत्र में काम करने वाले 500 से ज्यादा एनजीओ और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के अधिकारी भी मौजूद थे।

गहलोत ने इस दौरान मंत्रालय से जुड़ी दिव्यांगजन और बुजुर्गों से जुड़ी स्कीमों की भी समीक्षा की। साथ ही राज्यों से कोरोना संकटकाल में उठाए गए कदमों का ब्यौरा भी मांगा। केंद्रीय मंत्री ने इस दौरान राष्ट्रीय समाज रक्षा संस्थान (एनआईएसडी) के नए भवन का भी इंटरनेट के जरिए उद्घाटन किया। यह संस्थान नशीली दवाओं के दुरुपयोग की रोकथाम, वरिष्ठ नागरिकों और ट्रांसजेंडर के कल्याण जैसे योजनाओं के लिए प्रशिक्षण देने और अनुसंधान का भी काम करता है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस