मुंबई। मुंबई की तलोजा जेल में बंद अंडरवल्र्ड डॉन अब्दुल कयूम अंसारी उर्फ अबु सलेम यहां की जेल में नियम-कायदों को ताक पर रख कर अय्याशी भरी जिंदगी जी रहा है। हत्या, हत्या के प्रयास और फिरौती जैसे जघन्य अपराधों की सजा काट रहे अबू सलेम के आरोपों के खिलाफ जांच कमेटी के समक्ष पांच पेज के बयान में जेल अधीक्षक हीरा लाल जाधव ने यह खुलासा किया है।

उल्लेखनीय है कि इसी साल अबू सलेम ने जाधव पर उसे आत्महत्या के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया था। उसके बाद से ही यह जांच बैठाई गई थी। इसी जांच कमेटी के समक्ष अपने बयान में 52 वर्षीय हीरा लाल जाधव ने सोमवार को बताया कि जेल में वह आराम की जिंदगी जी रहा है। जेल के अंदर वह ऐसी सुविधाएं ले रहा है जिसकी अन्य कैदियों के लिए कल्पना करना भी मुश्किल है।

जेल में साथियों को देता है दावत :

जेल के एक सूत्र के अनुसार सलेम को घर का खाना खाने की इजाजत है। इसलिए वह अक्सर दो या तीन लोगों के लिए पर्याप्त मात्र में खाना बाहर से मंगाता है। अक्सर वह यह खाना मकोका के तहत सजा पाए कैदी विश्वनाथ शेट्टी के साथ खाता है। इसके अलावा उसके दो अन्य साथी भी इस भोज में शामिल होते हैं। ताकि वह अपने साथी कैदियों की नजर में अच्छा बना रहे। इसी के दम पर वह जेल में अपना तगड़ा नेटवर्क बना रहा है। वह जेल में पार्टी करने के लिए केएफसी का चिकन मंगाते हुए भी पकड़ा गया है।

बिना बीमारी अस्पताल में इलाज :

पुलिस सूत्रों का कहना है कि वह चिकित्सा अधिकारी पर उसे झूठे स्वास्थ्य कारणों के आधार पर अस्पताल जाने की इजाजत दिलाने का दबाव डालता है। बिना कारण ही अबु सलेम एक साल के अंदर जेजे अस्पताल में 42 बार जा चुका है।

जाधव का बेजा मांगों का आरोप :

जेल अधीक्षक जाधव के मुताबिक अबु सलेम सुनवाई के लिए दिल्ली ले जाने पर अतिरिक्त सुरक्षा दिए जाने की बेजा मांग करता है। जेल में लगे वीडियो कांफ्रेंसिग सुविधा के जरिए भी वह पेशी में शामिल हो सकता है, लेकिन वह जेलर पर जेल के अंदर ही उसे जहर का इंजेक्शन देकर मारने की कोशिश का आरोप लगाता है।

पढ़ें- अब मोनिका बेदी को अच्छा नहीं लगता अबु सलेम का नाम

By Atul Gupta