नई दिल्‍ली, एएनआइ। जवाहरलाल नेहरू विश्‍वविद्यालय में रविवार को हुई हिंसा के कई वीडियो और फोटो सामने आ रहे हैं। इनमें सबसे ज्‍यादा वायरल एक वो फोटो हो रही है, जिसमें एक चेक शर्ट वाली लड़की दो लड़कों के साथ नजर आ रही है। इस लड़की और साथ खड़े लड़कों के हाथों में डंडे और लोहे का सरिया नजर आ रहा है। ये चेक शर्ट वाली लड़की आखिर कौन है? ये सवाल पुलिस के साथ-साथ काफी लोगों के मन में उठ रहा है, जिसका जवाब सोशल मीडिया पर तलाश किया जा रहा है।

दरअसल, जेएनयू में हिंसा के बाद लेफ्ट समर्थित छात्र संगठन और भाजपा के समर्थन वाली स्‍टूडेंट विंग एबीवीपी एक-दूसरे को इस घटना के लिए जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। क्‍या ये चेक शर्ट वाली लड़की इनमें से ही किसी एक छात्र संगठन की सदस्‍य है? हालांकि, किसी भी दल के दावों की अभी तक पुष्टि नहीं हो पाई है। पुलिस ने एफआइआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है और उनका कहना है कि वीडियो फुटेज के जरिए दोषियों तक पहुंचा जाएगा।

अगर पुलिस हिंसा के फोटो और वीडियो के जरिए दोषियों तक पहुंचने की रणनीति पर काम कर रही है, तो हिंसा कर रही चेक शर्ट वाली लड़की भी जल्‍द पकड़ी जा सकती है। इस चेक शर्ट वाली लड़की ने गहरे नीले रंग की जींस और व्‍हाइट स्‍पोर्ट्स शूज पहन रखे हैं। मुंह पर एक हरे रंग की तौलिया लपेटी हुई है। हालांकि, इस लड़की की आंखें और सिर साफ नजर आ रहा है। ऐसे में पुलिस को इस चेक शर्ट वाली लड़की तक पहुंचा जाना मुश्किल नहीं होगा।

इधर, आइसा की दिल्ली प्रेसिडेंट कंवलप्रीत कौर ने ट्वीट कर फोटो में चेक शर्ट पहले दिख रही लड़की को पहचानने का दावा कर रही हैं। कंवलप्रीत ने एक नाम भी अपनी पोस्‍ट में लिखा है। उन्‍होंने जिस लड़की का नाम लिखा है, ऐसा बताया जा रहा है कि उसने अपना एकाउंट भी डिएक्टिवेट भी कर दिया है। हालांकि, कंवलप्रीत के दावों की पुष्टि नहीं हो पाई है। बता दें कि छात्रसंघ अध्यक्ष आइशी घोष भी जेएनयू में हुई हिंसा के दौरान बुरी तरह चोटिल हुई हैं।

इसे भी पढ़ें- JNU Violence में आरोप-प्रत्‍यारोप का दौर जारी; 24 घंटे के भीतर हमलावरों की पहचान कर दी जाए सजा : चिदंबरम

गौरतलब है कि गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक से बात कर हिंसा पर तुरंत रिपोर्ट मांगी है। वहीं, मानव संसाधन विकास मंत्रालय (MHRD) के सचिव ने जेएनयू के रजिस्ट्रार, प्रॉक्टर और रेक्टर को अपने कार्यालय में बुलाया है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय (HRD) ने जेएनयू प्रशासन से पूरे घटनाक्रम को लेकर रिपोर्ट मांगी। साथ ही मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने जेएनयू में हुई घटना की निंदा की और छात्रों से परिसर में शांति बनाए रखने की अपील की। उन्‍होंने ट्वीट किया, 'JNU में हुई हिंसा अत्यंत चिंताजनक और दुर्भाग्यपूर्ण है। मैं परिसर के भीतर हुई हिंसा की निंदा करता हूं। मैं सभी विद्यार्थियों से विश्व विद्यालय की गरिमा और परिसर में शांति बनाए रखने की अपील करता हूं।'

इसे भी पढ़ें- JNU Violence: ABVP ने कहा- 600 हमलावर घुसे थे कैंपस में, जमकर की थी मारपीट

Posted By: Tilak Raj

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस