जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। ओडिशा में निवेश को आकर्षित करने लिए दिल्ली में राज्य सरकार के रोडशो से ठीक पहले केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेद्र प्रधान ने बीजेडी सरकार पर हमला बोला है। धर्मेंद्र प्रधान ने मुख्यमंत्री नवीन पटनायक को पत्र लिखकर एनटीपीसी के हजारों करोड़ रुपये की निवेश योजना को जल्द मंजूरी देने की मांग की है। उनके अनुसार केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियां ओडिशा में बड़े पैमाने पर निवेश की तैयारी में है।

धर्मेद्र प्रधान के अनुसार पेट्रोलियम क्षेत्र की पीएसयू से लेकर सेल, नालको, एनटीपीसी जैसी सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियां राज्य में बडे़ पैमाने पर निवेश करना चाहती है। इससे ओडिशा का औद्योगिक परिवेश पूरी तरह से बदल सकता है, लेकिन राज्य सरकार पीएसयू की इन योजनाओं को जरूरी मंजूरी देने में अकारण देरी कर रही है।

एनटीपीसी ओडिशा में 24 हजार करोड़ निवेश को तैयार

उनके अनुसार अकेले एनटीपीसी ओडिशा में 24 हजार करोड़ रुपये की निवेश की योजना तैयार कर चुकी है। इसके तहत तलचर के मौजूदा प्लांट के पास ही नया अत्याधुनिक, पर्यावरण के अनुकूल प्लांट लगाना चाहती है। इसके लिए एनटीपीसी बोर्ड 9785 करोड़ रुपये मंजूर भी कर चुका है।

एचएलसी से मंजूरी नहीं मिलने के कारण परियोजना पर शुरू नहीं हो पा रहा है काम

प्रधान ने कहा कि तलचर में एनटीपीसी की परियोजना को जमीन, जल, पर्यावरण की संबंधित विभागों से जरूरी मंजूरी मिल चुकी है। राज्य सरकार की उच्च स्तरीय समिति (एचएलसी) से मंजूरी नहीं मिलने के कारण परियोजना पर काम शुरू नहीं हो पा रहा है। जबकि एनटीपीसी ने पिछले साल अप्रैल में ही एचएलसी में सिंगल विंडो सिस्टम के तहत मंजूरी के लिए अर्जी लगा दी थी।

प्रधान ने अपने पत्र में नवीन पटनायक को बताया कि सस्ती दर पर बहुतायत में कोयला उपलब्ध होने और अत्याधुनिक तकनीक का उपयोग होने के कारण ओडिशा को सस्ती दर पर अधिक बिजली उपलब्ध हो सकेगी। खासकर तलचर के आसपास के इलाके के विकास के लिए यह योजना अत्यधिक अहम है। प्रधान ने मुख्यमंत्री से इस मामले में हस्तक्षेप कर एचएलसी के जल्द-से-जल्द परियोजना को मंजूरी दिलाने की मांग की। 

Posted By: Bhupendra Singh