जागरण संवाददाता, ऊधमपुर। केंद्रीय वार्ताकार दिनेश्वर शर्मा ने बुधवार को ऊधमपुर में विभिन्न राजनीतिक, सामाजिक, व्यापारिक, किसान व सामुदायिक सहित 22 संगठनों के साथ मुलाकात की। उन्होंने इन संगठनों की मांगों व समस्याओं को सुना। इसके अलावा जिले के तीनों विधायकों ने भी मुलाकात कर उनको इलाके की जरूरतों व समस्याओं से अवगत कराया। प्रदेश अध्यक्ष बलवंत सिंह मनकोटिया के नेतृत्व में वार्ताकार से मिले पैंथर्स पार्टी के शिष्टमंडल ने कठुआ मामले की सीबीआइ जांच की मांग उठाई।

-पैथर्स पार्टी ने मामले की सीबीआइ जांच की मांग की

-ऊधमपुर के तारा निवास में चार घंटे में 22 शिष्टमंडलों से की मुलाकात

केंद्रीय वार्ता दिनेश्वर शर्मा बुधवार को दोपहर ढाई बजे के करीब ऊधमपुर पहुंचे और 22 संगठनों के शिष्टमंडलों से बंद कमरे में गोपनीय तरीके से मुलाकात की। उनसे मिलने वालों में भाजपा, पैंथर्स, नेकां, पीडीपी सहित सभी प्रमुख राजनीतिक दलों के शिष्टमंडल शामिल थे। विभिन्न शिष्टमंडलों ने केंद्रीय वार्ता के समक्ष विभिन्न मुद्दों को उठाया। इसके साथ ही इलाके की विभिन्न समस्याओं से अवगत करा कर अपनी मांग रखीं।

कांग्रेस के शिष्टमंडल ने जिला अध्यक्ष अशोक गुप्ता के नेतृत्व में मुलाकात की। कांग्रेस के शिष्टमंडल ने शर्मा को मांगों से संबंधित ज्ञापन सौंपा। जिला अध्यक्ष अशोक गुप्ता ने कहा कि वर्तमान राज्य गठबंधन सरकार हर मोर्चे पर विपल है। इसकी प्रमुख वजह दोनों ही राजनीतिक दलों का विपरीत विचारधारा का होना है।

एसोसिएटिड चैंबर्स ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज ने भी केंद्रीय वार्ता के समक्ष ऊधमपुर से सात दशकों से हो रहे भेदभाव का मुद्दा उठाया। शिष्टमंडल में शामिल लोगों ने कहा कि ऊधमपुर के व्यापारी, ठेकेदार, युवा, केजुअल वर्कर्स, कंट्रैक्चुअल लेक्चर सहित सभी आम जनता कश्मीर केंद्रित नेतृत्व की वजह से 70 वर्ष से भेदभाव का शिकार है। रोजगार, फंड आवंटन, विकास योजनाओं, पर्यटन, बिजली, स्वास्थ्य सहित अन्य संबंधित क्षेत्रों में ऊधमपुर के साथ भेदभाव हो रहा है। बेरोजगारी की वजह से युवा गलत राह को अपना रहे हैं।

Posted By: Bhupendra Singh