नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव की 70 सीटों के लिए मतगणना में आ रहे रुझानों से भाजपा के खेमे में जहां मायूसी का माहौल छा गया है, वहीं आम आदमी पार्टी के उम्मीदवारों के चेहरे खिल गए हैं। भाजपा ने अब अपनी हार स्वीकार भी कर ली है, लेकिन उम्मीद अभी तक नहीं छोड़ी है। रुझान के नतीजों से आम आदमी पार्टी में जश्न का माहौल है। आप नेता योगेंद्र यादव का कहना है कि ये उम्मीद का दिन है, ये दीया और आंधी की लड़ाई है और इसमें दीया जीतता हुआ नजर आ रहा है।

मतगणना के रुझानों में आम आदमी पार्टी लगभग 58 सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं। वहीं भाजपा सिर्फ 10 सीटों पर आगे चल रही है। ऐसे में भाजपा ने अपनी हार एक तरह से मान ली है। भाजपा प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन का कहना है, 'मतगणना के नतीजे हमारी सोच के अनुरूप नहीं आ रहे हैं। यह हमारे लिए चिंतन का विषय है। हम इस पर चिंतन करेंगे कि आखिर क्यों जनता का विश्वास हम पर से उठ रहा है।'

हालांकि शाहनवाज हुसैन का यह भी मानना है कि भाजपा के वोटर अब भी उनके साथ हैं। उन्होंने कहा, 'हालांकि भाजपा का वोटर अभी तक पार्टी के साथ है। लेकिन कांग्रेस के वोटर आम आदमी पार्टी की तरह शिफ्ट हो गया है, इसका खामियाजा भाजपा को उठाना पड़ा है। हालांकि हम अभी तक उम्मीद लगाए बैठे हैं।'

उधर भाजपा नेता प्रवीण शंकर कपूर का कहना है, 'जनता के फैसले का हम सम्मान करते हैं। भाजपा की इस हार के लिए सभी जिम्मेदार हैं। हालांकि नतीजे हमारी आशा के अनुरूप नहीं आए हैं।' लेकिन भाजपा की मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार किरण बेदी का कहना है कि जीत पूरी पार्टी की होती है, लेकिन हार के लिए सिर्फ वही जिम्मेदार हैं।

रुझान के नतीजों से आम आदमी पार्टी में जश्न का माहौल है। आप नेता योगेंद्र यादव का कहना है कि ये उम्मीद का दिन है, ये दीया और आंधी की लड़ाई है और इसमें दीया जीतता हुआ नजर आ रहा है। हालांकि अरविंद केजरीवाल कहते हैं कि यह जुनून और पैसे के बीच लड़ाई है। जुनून जीतता है, मैं आम आदमी पार्टी को सलाम करता हूं।'

इसे भी पढ़ें:केजरीवाल का साथ छोड़ चुके पुराने साथियों को आज अफसोस जरूर होगा

इसे भ पढ़ें:आज 'आम आदमी पार्टी' के लिए ऐतिहासिक दिन

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: T emp