मुंबई। मुंबई हमले के साजिशकर्ता डेविड हेडली की गवाही का आज चौथा दिन है। आज गवाही के दौरान उसने नेवी बेस और भाभा परमाणु सेंटर जैसे प्रतिष्ठित ठिकानों पर हमले की योजना का खुलासा किया। इसके अलावा भी उसने कई ऐसे अहम खुलासे किए जिससे पाकिस्तान की पोल खुल गई। अब तक हुई गवाही में उसने कई रहस्यों से पर्दा उठाया है। इसमें इशरत जहां से लेकर उन आतंकियों के नामों का खुलासा भी शामिल है जिन्होंने मुंबई हमले की साजिश को अंजाम दिया। यह गवाही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए हो रही है। आज अपनी गवाही की शुरुआत में उसने बताया कि हमले से पहले हेडली खुद उन तमाम जगहों पर गया था जो आतंकिेयों के निशाने पर थीं।

डिफेंस कॉलेज पर हमला कर आर्मी चीफ को खत्म करवाना चाहता था इलियास कश्मीरी

मुंबई हमले की सफलता पर हेडली की पूर्व वाइफ ने दी थी उसको बधाई

मुंबई एयरपोर्ट की रेकी की थी

हेडली ने बताया कि हमले के लिए उसने मुंबई एयरपोर्ट की भी रेकी की थी। लेकिन मेजर इकबाल इस बात को लेकर काफी नाखुश दिखाई दिए थे कि उसे आतंकियों के टारगेट में शामिल नहीं किया गया था। उसकी निगाह में यह एक सही आइडिया नहीं था। 9-15 अप्रेल 2008 में अपनी पाकिस्तान वापसी के दौरान उसने साजिद मीर और मेजर इकबाल से मुलाकात की और उन्हें आतंकियों के टारगेट बनाने वाली जगहों की वीडियो भी दिखाई। अप्रेल और जून 2008 में भी दो बार वह पाकिस्तान गया था। इसी दौरान उसने न्यूयार्क और फिलाडेलफिया भी गया था। इस दौरान उसने तहव्वुर राणा से फोन पर बात भी की थी और अपने मुंबई दौरे की पर हमले वाली जगहों की जानकारी उसे दी थी।

बाल ठाकरे की हत्या करना चाहता था ल श्कर

नरिमन हाउस की बनाई थी वीडियो

जुलाई 2008 में वह नरिमन हाउस (छाबड़ हाउस) भी गया था। उसने यहां का एक वीडियो भी तैयार किया था। वह जानता था कि यहां पर जुविश कम्यूनिटी के लोग रहते हैं। इसकी रेकी करने के लिए उसको साजिद मीर और पाशा ने कहा था। उसके मुताबिक उसने लश्कर को नेवल स्टेशन और सिद्धिविनायक मंदिर पर हमला न करने के लिए मनाया था, इसकी वजह थी वहां पर मौजूद भारी सुरक्षा।

आतंकियों के हमला करने वाले ठिकानों पर हुई थी चर्चा

जून 2008 में पाकिस्तान में हेडली ने साजिद मीर, अबु खफा, अब्दुर रहमान पाशा, लखवी और मेजर इकबाल से मुलाकात भी की थी। इस दौरान भी आतंकियों द्वारा निशाना बनाए जाने वाले ठिकानों पर चर्चा हुई थी। इस दौरान मेजर इकबाल ने उसकी नियुक्ति भविष्य में मुबंई के प्रख्यात भाभा परमाणु रिसर्च सेंटर में कराने की बात की थी जिससे वह वहां की खुफिया जानकारी को आईएसआई तक पहुंचा सके।

जानें कौन है डेविड हेडली, जिसे भारत आने के लिए बदलना पड़ा था नाम

हेडली ने किया खुलासा, मुंबई हमले के लिए कब-कब हुई पाकिस्तान से फंडिंग

बीएआरसी की बनाई थी वीडियो

उसने गवाही के दौरान यह भी कबूल किया कि उसने बीएआरसी की एक वीडियो भी तैयार की थी, जिसको बाद में उसने मेजर इकबाल और साजिद मीर को सुपुर्द कर दिया था। उसने यह भी बताया किे मेजर इकबाल ने उसको मुंबई के नेवल स्टेशन का सर्वे करने को भी कहा था। उसने वहां का भी सर्वे किया था जिसको बाद में लश्कर के साथ चर्चा में शामिल भी किया गया था।

मुंबई हमले की कामयाबी पर हेडली को मिली थी 'शाबाशी'

सिद्धिविनायक मंदिर पर भी हमला करने की थी योजना

हेडली ने अपनी गवाही में बताया है कि वह सिद्धिविनायक मंदिर भी गया था और वहां से उसने कुछ घडि़यां और बैंड भी खरीदे थे। इनमें से कुछ को उसने पाकिस्तान जाने के बाद साजिद मीर को गिफ्ट भी किया था। उसने बताया कि मुंबई हमले में शामिल सभी आतंकी देखने में भारतीय ही लगते थे लिहाजा वह अपनी पहचान को आसानी से छिपा सकते थे।

हेडली ने दोहराया बयान, इशरत जहां को बताया लश्कर की आत्मघाती हमलावर

कसाब की गोली से घायल देविका बोली, मुंबई हमले के साजिशकर्ताओं को हो फांसी

पढ़ें: शिवसेना ने सामना में हेडली को बताया महान, अमेरिका और कांग्रेस को लताड़ा

Posted By: Kamal Verma